गोरखपुर : योगी की सख्ती से एक्शन में डीएम, सभी SDM सहित 20 अफसरों को प्रतिकूल प्रविष्टि

गोरखपुर। जन शिकायतों के निस्तारण में ढिलाई  बरतने पर सीएम योगी की सख्ती के बाद मंगलवार की देर शाम जिले के तमाम अफसरों पर कार्रवाई की गाज गिरी है । जिलाधिकारी  राजीव रौतेला ने जिले के सभी एसडीएम समेत 20 से अधिक अफसरों को प्रतिकूल प्रविष्टि देने के निर्देश दिए। इनमें डीएसओ, बीएसए, एक्सईएन लोक निर्माण विभाग, डीपीआरओ, पीडी ग्राम्य विकास विभाग, पीओ डूडा समेत कई विभागों के अफस है। जिलाधिकारी  ने सभी को चेतावनी भी दी है  कि तीन दिन के भीतर अगर सभी समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली पोर्टल पर आने वाली शिकायतों का निस्तारण नहीं हुआ तो संबंधित अफसरों पर और कड़ी कार्रवाई की जाएगी । कार्रवाई की जद में पुलिस विभाग के अधिकारी भी  हैं । इन पुलिस के अधिकारिओ पर कार्रवाई के लिए डीएम ने एसपी सिटी गणेश साहा को निर्देश  दिए हैं |

मुख्यमंत्री योगी के जवाब तलब करने से खफा जिलाधिकारी राजीव रौतेला ने पहले तहसील दिवस में अफसरों को चेतावनी दी फिर रात साढ़े आठ बजे आनलाइन शिकायतों की समीक्षा बैठक बुला ली। विकास भवन में करीब एक घंटे तक चली इस बैठक में जिले में 1700 से अधिक शिकायतें लंबित मिलीं। इनमें मुख्यमंत्री संदर्भ से लेकर राजस्व परिषद, तहसील दिवस, समाधान दिवस, कमिश्नर आदि से जुड़े संदर्भ शामिल हैं।  पिछले महीने में भी डीएम ने जिला परिषद सभागार में पुलिस और प्रशासन समेत सभी विभागों के अफसरों के साथ बैठक कर आनलाइन लंबित मामलों की समीक्षा की थी। सभी अफसरों को उनसे जुड़े लंबित मामलों की जानकारी देते हुए तीन दिन के भीतर सभी के निस्तारण की चेतावनी दी थी। यही नहीं, सर्वाधिक लंबित शिकायतों पर डीएम ने डीपीआरओ, डीएसओ, एक्सईएन लोक निर्माण विभाग, तीन तहसीलों के एसडीएम समेत 12 अफसरों का वेतन भी रोक दिया था।