अलीगढ़ के हैं बुलन्दशहर में मारे गए दोनों साधु, हत्यारा बोला- ‘भगवान की मर्जी थी इसलिए मारा’

अलीगढ । बुलंदशहर में 2 साधुओं की हत्या होने के तार अलीगढ से जुड़े हैं । दोनो साधु अलीगढ़ के रहने वाले थे । बुलंदशहर के अनूपशहर शिकारपुर मार्ग पर स्थित गांव पगौना में शिव मंदिर पर 10 वर्षों से रह रहे थे । हत्यारे को सुबह श्रद्धालुओं ने नशे की हालत में दबोचकर पुलिस के हवाले कर दिया था । मृतको के ग़ांव के शोक की लहर है ।

अलीगढ़ के लोधा क्षेत्र के गांव भानोली निवासी जगनदास उर्फ जगदीश अपने शिष्य शेरसिंह उर्फ सेवादास निवासी गांव बरकातपुर थाना हरदुआगंज अलीगढ़ के साथ बुलंदशहर के थाना अनूपशहर के पगौना में शिव मंदिर पर रहते थे।

भगवान की मर्जी थी इसलिए मारा-
जिले के वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया से कहा कि- आरोपी ने पूछताछ के दौरान कहा- यह भगवान की मर्जी थी । हत्या को कैसे अंजाम दिया? इसके जवाब में हत्यारे ने बताया पुलिस को बताया कि पहले उसने भांग खाया और फिर मंदिर में आया। वहां उसने सो रहे साधुओं पर लाठी से वार करना शुरू कर दिया।