जनरल मोटर्स की होगी भारत में बिक्री बंद

नई दिल्ली। लगभग सौ साल से भारतीय वाहन बाजार में शेवरले धमाल मचाने वाली अमेरिका की वाहन जनरल मोटर्स (जीएम) ने इस साल के अंत तक घरेलू बाजार में अपने वाहनों की बिक्री बंद करने की घोषणा की है। हालांकि, कंपनी ने कहा है कि निर्यात के लिए वह भारत में अपना उत्पादन संयंत्र चालू रखेगी। वर्ष 1918 में शेवरले की बिक्री के जरिए जनरल मोटर्स ने पहली बार भारतीय बाजार में अपनी धमक दी थी। कंपनी ने 1928 में बॉम्बे में एक फैक्ट्री खोली लेकिन 1958 में अन्य विदेशी वाहन निर्माता कंपनियों के साथ इसने भी भारत से विदाई ले ली।

कई वर्षों बाद जनरल मोटर्स दोबारा 1995 में यहां आई लेकिन काफी जद्दोजेहद के बाद भी भारत के तेजी से उभरते बाजार में एक फीसदी से भी कम हिस्सा बना पाई और अब अंतत: इसने 22 साल बाद दोबारा भारतीय बाजार को अलविदा कह दिया है। कंपनी ने गुरुवार को इस बात घोषणा की और अपने कर्मचारियों को भी इसकी जानकारी दी। कंपनी भारत में बस अपना एक ही ब्रांड शेवरले बेचती है।