इलाहाबाद : राज्यमंत्री निषाद बोले- गंगा को प्रदूषण मुक्त करना सरकार की प्राथमिकता

शशांक मिश्रा/इलाहाबाद | राज्य मंत्री, पशुधन, मत्स्य, राज्य सम्पत्ति एवं नगर भूमि  जयप्रकाश निषाद अपने इलाहाबाद भ्रमण कार्यक्रम के अन्तर्गत केन्द्रीय मत्स्य अनुसंधान केन्द्र, 24 पन्ना लाल रोड, इलाहाबाद में नमामि गंगे योजना पर आधारित कार्यक्रम में शामिल  हुये। उन्होंने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि गंगा का महत्व आज से ही नहीं बल्कि अनादि काल से है मां गंगा के दर्शन एवं स्नान के लिए दूर दूर से श्रद्धालु आते हैं और मां गंगा के सानिध्य में अपना कुछ समय बिताते हैं केन्द्र एवं राज्य सरकार मां गंगा को स्वच्छ एवं निर्मल बनाने के निरन्तर प्रयास कर रही है प्रधानमंत्री ने गंगा जी के महत्व को समझते हुए नमामि गंगे के नाम से एक मंत्रालय गठित कर दिया हैं। जिसके माध्यम से गंगा को स्वच्छ एवं निर्मल बनाने के विभिन्न कार्य किये जा रहे है।
    जिनका जीवन नदी के तट पर बीतता है उन मछुवारों से भी गंगा को स्वच्छ एवं निर्मल बनाने के सुझाव लिये जायें। उन्होंने कहा कि गंगा ही नहीं अपितु सभी नदियों को स्वच्छ एवं निर्मल किया जाना है। राज्य मंत्री ने कहा कि जल ही जीवन है, इसके संरक्षण एवं अविरल बनाने के लिए उ.प्र. सरकार ने कई ठोस कदम भी उठाये हैं।  मछलियां गंगा को स्वच्छ रखने में अपना अलग ही स्थान रखती है।  गंगा में मछिलियों को डालने की योजना चल रही है जिससे गंगा को स्वच्छ एवं निर्मल बनाये में सहयोग मिलेगा।
    इसके उपरान्त राज्य मंत्री जी द्वारा सरकिट हाउस में विभागीय अधिकारियों के साथ सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं की समीक्षा की गयी। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट रूप से कहा कि सरकार की योजनाओं का लाभ आम आदमी तक पहुँच रहा है इसकी निरन्तर मानिटरिंग की जाय जलाशय सूखे पड़े है उन्हें शीघ्र भरे जाने के लिए आवश्यक प्रबंध किये जाये।  उन्होंने विभागों के अधिकारियों को योजनाओं की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं!