पूर्व बीजेपी विधायक मुनेश गौड़ की संदिग्ध मौत !

उत्तर प्रदेश | अलीगढ़ जिले में भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक मुनेश गौड़ की छत से गिर जाने पर संदिग्ध मौत हो गई. हालांकि पहले मामला आत्महत्या का बताया जा रहा था. लेकिन अभी तक इस बारे में पुलिस या मृतक के परिजनों ने कोई जानकारी नहीं दी है.

मंगलवार को पूर्व विधायक गौड़ थाना क्वार्सी इलाके की एडीए कॉलोनी में अपने आवास पर मौजूद थे. शाम करीब सवा 6 बजे अचानक वह अपने दो मंजिल मकान की छत से नीचे गिर गए. परिजन फौरन उन्हें लेकर वरुण हॉस्पिटल पहुंचे. जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया.
उनकी मौत की ख़बर लगते ही पार्टी नेता और उनके समर्थक भारी संख्या में अस्पताल पहुंच गए. पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है. हैरानी की बात है कि इस घटना के बारे में परिजन या पुलिस अभी कुछ भी बताने को तैयार नहीं हैं. जबकि घटना के वक्त परिजन घर में ही मौजूद थे.
अगर कहा जाए तो अभी मामला अभी आत्महत्या और हत्या के बीच उलझ गया है. पुलिस घटना से जुड़े सभी पहलुओं पर जांच कर रही है. अभी तक इस संबंध में अलीगढ़ पुलिस या मृतक नेता के परिजनों की तरफ से कोई बयान नहीं आया है.मूल रूप से जवां के पौहिना गांव निवासी मुनेश गौड़ कल्याण सिंह सरकार में बरौली विधानसभा क्षेत्र से 1993 में विधायक रहे थे. उनका प्रापर्टी, शराब और ठेकेदारी का कारोबार रहा है.2 जुलाई 2016 को मुनेश गौड़ पर जानलेवा हमला हुआ था. उन पर करीब छह-सात गोलियां चलाई गईं थी. जिनमें से उन्हें दो गोली लगी थीं. उस वक्त घायल मुनेश गौड़ को उनका बेटा राजा स्कूटी पर ही वरुण ट्रामा सेंटर लेकर पहुंच गया था. जहां डॉक्टरों ने उनकी जान बचा ली थी.