कोरोना वायरस से मध्यप्रदेश में पहली मौत, उज्जैन की महिला ने तोड़ा दम

इंदौर। कोरोना वायरस से संक्रमित 65 वर्षीय महिला की इंदौर के एक सरकारी अस्पताल में इलाज के दौरान बुधवार को मौत हो गई। राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से यह पहली मौत है। इंदौर के जिलाधिकारी लोकेश कुमार जाटव ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘उज्जैन की रहने वाली 65 वर्षीय महिला की इंदौर के शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय में मौत हुई है। वह कोरोना वायरस से संक्रमित थी।’’ उन्होंने बताया, सांस लेने में ज्यादा दिक्कत होने से मरीज की हालत काफी बिगड़ गयी थी। वह मधुमेह की गंभीर मरीज भी थी।

डॉक्टरों के तमाम प्रयासों के बावजूद उसकी जान नहीं बचायी जा सकी। जाटव ने बताया कि महिला के अंतिम संस्कार के वक्त तय प्रोटोकॉल का पालन किया जायेगा ताकि इसमें शामिल होने वाले लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण की जद में आने से बचाया जा सके। उन्होंने बताया कि महिला का अंतिम संस्कार करने वाले लोगों को इस संक्रमण से सुरक्षा के साधन मुहैया कराये गये हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि यह महिला शहर के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती पांच मरीजों में से ही एक हैं। उन्होंने बताया, डॉक्टरों द्वारा इन पांचों लोगों के कुल 29 परिजनों की शुरूआती जांच कर ली गयी है। लेकिन इनके परिजनों में कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण फिलहाल नहीं पाये गये हैं। हम उनकी सेहत पर निगाह रखते हुए उनकी आगामी जांचें करा रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इंदौर में जिन पांच लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है उनमें से किसी ने विदेश यात्रा नहीं की थी, सभीस्थानीय स्तर पर संक्रमण की चपेट में आए हैं। अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश भर में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि कुल 15 लोगों में हुई है। इंदौर और उज्जैन में कोरोना वायरस संक्रमण के मरीज सामने आने के बाद जिला प्रशासन ने दोनों शहरों में कर्फ्यू लगा दिया है।