फर्जी वीडियो के जरिये भारत को बदनाम कर रहा चीन

नई दिल्ली। चीन की सरकारी मीडिया ने सिक्किम में सीमा विवाद पर भारत का मज़ाक उड़ाते हुए एक नया प्रौपेगैंडा वीडियो जारी किया है। इस वीडियो पर अब विवाद छिड़ गया है। अंग्रेजी भाषा में तैयार किए इस वीडियो में भारत के सात पाप गिनाए गए हैं। वीडियो में एक महिला को पगड़ी पहनाकर उन्हें भारतीय लहजे में खिल्ली उड़ाने वाले अंदाज में बोलता हुआ दिखाया गया है। चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने बुधवार को ये वीडियो जारी किया है। ये वीडियो डोकलाम पर दोनों देशों के बीच जारी विवाद से जुड़े एक चैट शो का हिस्सा है। भारत में इस वीडियो को लेकर हैरानी और ग़ुस्सा दोनों ही भावनाएं ज़ाहिर की जा रही हैं। सेवन सिंस ऑफ इंडिया (भारत के सात पाप) टाइटल वाले इस वीडियो में डियर वॉन्ग भारत के प्रति चीन की शिकायतों का ज़िक्र करती हैं। ये शिकायतें डोकलाम से जुड़ी हुई हैं।
डोकलाम में भारत, चीन और भूटान की सीमाएं लगती हैं.,। स्पार्क नाम से ये चैट शो शिन्हुआ ने हाल ही में शुरू किया है,। विवाद वाला वीडियो क्लिप ताज़ा एपिसोड का है।
चेहरे पर ख़ुशी और लहजे में तल्खी लिए चैट शो की एंकर भारत पर ‘अंतरराष्ट्रीय क़ानूनों को तोड़ने’ और ‘अपने अवैध क़दमों के लिए आंखों में धूल झोंकने वाले बहाने खोजने’ का आरोप लगाती हैं। महिला एंकर चैट शो में ख़ुद से बात करती दिख रही हैं। वो भारतीय सिख की पोशाक में हैं। बेतरतीब दाढ़ी के साथ पगड़ी और सनग्लास भी चेहरे पर है। जो बात मज़ाक उड़ाने वाली लगती है, वो ये है कि भारतीय का भेष धरी महिला एंकर सिर हिलाती रहती हैं, बेसुरी अंदाज में अंग्रेज़ी बोलती हैं और इस बीच हंसी की आवाज़ आती रहती है। दूसरे दृश्य में भारतीय सिखों की पोशाक पहनी वह महिला कैंची से इशारा करती है। कैंची से जिस शख़्स की तरफ़ इशारा किया जाता है वो भूटान का प्रतिनिधित्व कर रहा है। इसमें यह बताने की कोशिश की गई है कि भारत इस हिमालयी देश में दादागिरी कर रहा है। इस वीडियो को विदेशी दर्शकों के लिहाज से बनाया गया है।

यह पाप बताये जा रहे हैं वीडियो में –

1—18 जून को भारतीय सैनिक अवैध रूप से हथियार और बुल्डोजर के साथ चीनी सीमा में घुस गए।
2—भारतीय सैनिक बिना दरवाज़ा खटखटाए चुपके से चीनी सीमा में घुस गए।
3—भारत ने अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन किया।
4—इस मामले में भारत ख़ुद को सही बता रहा है और कह रहा है कि चीन सड़क बना रहा था इसलिए उसने ऐसा किया।
5—भारत इस मामले में बिल्कुल झूठ बोल रहा है।
6—भूटान की सुरक्षा के नाम पर भारत ने चीन में घुसपैठ की है।
7—भारत भूटान को ढाल की तरह इस्तेमाल कर रहा है

इसीलिए वीडियो में संवाद की भाषा अंग्रेज़ी रखी गई है। इसे शिन्हुआ ने यूट्यूब, ट्विटर और फ़ेसबुक पर भी डाला है। हालांकि ये तीनों सेवाएं चीन में बंद हैं। चीनी रिपोर्ट का कहना है कि इस ऑनलाइन शो का उद्देश्य है कि विवाद पर अंतरराष्ट्रीय दृष्टिकोण भी सामने आए। इससे पहले के शो में भारत और चीन के बीच गतिरोध को दिखाया गया है। भारतीय मीडिया में इस वीडियो को नस्लवादी कहा जा रहा है। यह बात कही जा रही है कि इस वीडियो में सिखों को निशाना बनाया गया है। चीन और भारत में पिछले दो महीने से तनाव है। इस तनाव को लेकर चीन के मीडिया में काफ़ी आक्रामक रिपोर्ट छप रही हैं।