EVM पूरी तरह सुरक्षित, चुनाव आयोग कर रहा ओपन चैलेंज की तैयारी

नई दिल्ली। देश के मुख्य चुनाव आयुक्त  नसीम जैदी ने आज कहा है  कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (इवीएम) पूरी तरह सुरक्षित है और छेड़छाड़ रहित हैं।
चुनाव आयोग ईवीएम छेड़छाड़ के मामले पर ल्द ही सर्वदलीय बैठक बुला सकता है।  मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पूरी तरह सुरक्षित और छेड़छाड़ रहित हैं। नसीम जैदी ने ये भी कहा कि आयोग का इरादा अगले सभी चुनावों में वोटर वेरीफाइट पेपर ऑडिट ट्रेल (VVPAT) मशीनों के इस्तेमाल का है, जिससे कि चुनाव प्रक्रिया में लोगों को विश्वास और पारदर्शिता को बढ़ाया जा सके। इस सर्वदलीय बैठक के जरिए आयोग सभी राजनीतिक पार्टियों को ये बताना चाहता है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ संभव नहीं है, और वो किस तरह से सुरक्षित हैं। हाल ही में 16 राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव आयोग से अनुरोध किया था कि ईवीएम पर खत्म हुए विश्वास के बाद चुनाव आयोग आने वाले समय में सभी चुनाव ईवीएम के बजाय बैलट पेपर की मदद से कराए।
जैदी ने कहा कि आयोग एक ऐसे ओपन चैलेंज की तैयारी कर रहा है जिसमें कोई भी ईवीएम मशीन को हैक कर या छेड़छाड़ कर दिखाए। मुख्य चुनाव आयुक्त का कहना है चुनाव आयोग ने वीवीपीएटी मशीनों की सप्लाई का ऑर्डर दे दिया है जिससे की अगले चुनाव में इनका इस्तेमाल हो सके।
वीवीपीएटी के लिए फंड मिल चुके हैं और हमने 15 लाख वीवीपीएटी मशीनों का ऑर्डर भारत इलेक्टॉनिक्स लिमिटेड और इलेक्ट्रॉनिक कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया को दिया है। हमें उम्मीद है कि सितंबर 2018 तक हमारे पास 15 लाख नई वीवीपीएटी मशीन मौजूद होंगी। आने वाले समय में भारत दुनिया का इकलौता देश होगा जहां वीवीपीएटी मशीनों के सभी तरह के चुनाव होंगे।
-एजेंसी