ईवीएम पर सवाल उठाने वालों में से नहीं आया कोई चुनौती में शामिल होने

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में छेड़छाड़ करके दिखाने की चुनाव आयोग की चुनौती में शामिल होने के लिहाज से आवेदन करने के लिए राजनीतिक दलों के पास 10 घंटे से भी कम वक्त बचा है और अभी तक किसी पार्टी ने आवेदन नहीं किया है। आयोग ने गत शनिवार को ऐलान किया था कि ईवीएम को हैक करने और उनमें छेड़छाड़ की चुनौती तीन जून को दी जाएगी और इसमें भाग लेने के लिए सात मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय दल और 49 प्रादेशिक पार्टियां 26 मई शाम पांच बजे तक आवेदन कर सकती हैं। आयोग के सूत्रों के मुताबिक गुरुवार रात तक किसी पार्टी ने आवेदन नहीं किया है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद आम आदमी पार्टी और बसपा ने ईवीएम में छेड़छाड़ की आशंका जताई थी। उसके बाद कई अन्य दलों ने उनके स्वर में स्वर मिलाया। आयोग ने ईवीएम मशीन के मदरबोर्ड में छेड़छाड़ करने की अनुमति देने की आप की मांग को गुरुवार को खारिज कर दिया।