UP में 29 नवंबर से बिजली कर्मी करेंगे अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार

लखनऊ। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति उप्र की गुरूवार को हुई बैठक में लिए गये निर्णय के अनुसार संघर्ष समिति ने 29 नवम्बर 2022 से समस्त ऊर्जा निगमों में अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार करने की नोटिस प्रबन्धन को भेज दी है। नोटिस में लिखा गया है कि ऊर्जा निगमों के शीर्ष प्रबन्धन के स्वेच्छाचारी रवैये के कारण ऊर्जा निगमों को हो रही आर्थिक क्षति और ऊर्जा निगमों में व्याप्त भय के वातावरण को समाप्त कराने के लिये कई बार गुहार लगायी जा चुकी है। ऐसे में सार्थक कार्रवाई नहीं होने की वजह से संघर्ष समिति ने सरकार व प्रबन्धन के ध्यानाकर्षण को आन्दोलन का निर्णय लिया है।

संघर्ष समिति के सभी घटक श्रम संघों व सेवा संगठनों की केन्द्रीय कार्यकारिणी के समस्त पदाधिकारी व सदस्य 11 नवम्बर 2022 को लखनऊ में शक्ति भवन मुख्यालय पर प्रात: 10:00 बजे से सायं 05:00 बजे तक शान्तिपूर्वक सामूहिक सत्याग्रह व विरोध प्रदर्शन करेंगे। 18 नवम्बर को राजधानी लखनऊ सहित समस्त जनपदों व परियोजनाओं पर अपराह्न 03:00 बजे से सायं 05:00 बजे तक विरोध सभायें की जायेंगी। 03 नवम्बर से 28 नवम्बर तक प्रदेश भर में प्रेस कॉन्फ्रेंस व सभाओं के माध्यम से व्यापक जनजागरण अभियान चलाया जायेगा। बिजली कर्मचारियों व अभियन्ताओं की मुख्य मांगों में ऊर्जा निगमों के सुचारू संचालन हेतु चेयरमैन, प्रबन्धन निदेशकों व निदेशकों के पदों पर चयन निर्धारित प्रक्रिया के अन्तर्गत किया जाये, सभी बिजली कर्मियों को पूर्व की भांति 09 वर्ष, कुल 14 वर्ष एवं कुल 19 वर्ष की सेवा के उपरान्त 03 पदोन्नत पदों के समयबद्ध वेतनमान दिये जायें, सभी बिजली कर्मियों को कैशलेस इलाज की सुविधा प्रदान की जाये, ट्रांसफार्मर वर्कशॉप के निजीकरण के आदेश वापस लिए जायें तथा 765/400/220 केवी विद्युत उपकेन्द्रों को आउटसोर्सिंग के माध्यम से चलाने का निर्णय रद्द किया जाये, पारेषण में जारी निजीकरण प्रक्रिया निरस्त की जाये सहित समस्त संविदा कर्मियों को नियमित किया जाये सहित कई प्रमुख मांगें शामिल हैं।

बैठक में राजीव सिंह, जितेन्द्र सिंह गुर्जर,गिरीश पांडेय, सदरुद्दीन राना, माया शंकर तिवारी, सुहेल आबिद, पी के दीक्षित, चन्द्र भूषण उपाध्याय, मो इलियास, महेन्द्र राय, पी एन तिवारी, मो वसीम, सुनील प्रकाश पाल, प्रेम नाथ राय, सनाउल्लाह, एके श्रीवास्तव, सागर शर्मा, शम्भू रत्न दीक्षित, भगवान मिश्र, पवन श्रीवास्तव, रफीक अहमद, के पी सिंह आदि उपस्थित रहे।