मथुरा में शिक्षा माफिया कर रहा छात्रों का शोषण, फूट फूट कर रोईं छात्राएं, कालेज प्रशासन पर लगाये यह गंभीर आरोप-

मथुरा | मथुरा में उज्जवल भविष्य की चाह लिए आये छात्र शुक्रवार को फूट फूट कर रोये | छात्राएं कालेज द्वारा किये जा रहे उत्पीड़न से तंग आकर बिलखती नजर आईं लेकिन किसी का दिल नहीं पसीजा | छात्रों ने धरना लगा दिया तो पुलिस आई और कार्यवाही का भरोसा दिया | मथुरा-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित संजय कॉलेज के छात्रों ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ हड़ताल कर दी। छात्राओं का आरोप है कि उन्हें परीक्षाओं में कम इंटरनल नंबर दिए गए हैं। हड़ताल के समय कुछ छात्राएं रोती हुई नजर आईं। मथुरा के संजय कॉलेज ऑफ फार्मेसी से आयुर्वेद की छात्राएं हड़ताल पर बैठ गईं। कालेज द्वारा अवैध रूप से मोटी फीस लेने का अभी आरोप लगाया गया है |

छात्रों ने कॉलेज प्रशासन पर आरोप लगाया है कि वह पढ़ाई के नाम पर उनसे मोटी रकम बसूलता है। समय पर उनके एग्जाम नही कराए जाते हैं। दो साल में एक बार एग्जाम हुए हैं। उनमें भी उन्हें फैल कर दिया गया है। इसके साथ ही छात्र छात्राएं अपनी कोई भी परेशानी लेकर कॉलेज प्रशासन के पास जाते हैं तो वो उन्हें फटकार लगाकर भगा देते हैं।

बीएएमएस की छात्रा दिव्या सिंह ने बताया कि वह तीन साल से प्रथम वर्ष के छात्रों के ही साथ पढ़ रही है। तृतीय वर्ष की कोई भी क्लास यहाँ संचालित नही है। छात्रा पूजा शर्मा ने बताया कि कॉलेज में छात्र छात्राओं को मानसिक प्रताडित किया जाता है। वो कॉलेज छोड़ कर न जाएं, इसके लिए उन्होंने पाँच साल का पीडीसी चेक जमा करा लिया है।

यदि लड़कियाँ किसी छेड़खानी की शिकायत करने कॉलेज प्रशासन से जाते हैं तो प्रशासन द्वारा उनके चरित्र पर ही उँगली उठाई जाती है। छात्राओं का कहना है कि उन्होंने नीट की परीक्षा दी। इतनी मेहनत की। लेकिन, कॉलेज प्रशासन फेल करने में जुटा है। छात्राओं का कहना है कि अभिभावकों से बात नहीं करते हैं।

बीएएमएस डायरेक्टर डॉक्टर डीसी गुप्ता ने बताया कि कुछ छात्रों को यूनिवर्सिटी द्वारा अपेक्षित मार्क्स नही मिलें हैं। यदि यूनिवर्सिटी द्वारा मार्क्स बढ़ाएं जा सकते हैं तो यह कॉलेज प्रशासन द्वारा कार्यकारी होगा। कॉलेज उनका सहयोग करेगा। प्रदर्शन करने वाले छात्रों में साक्षी, शुभांजलि, अनुराधा, पुलकित, काजल, तन्नू, कीर्ति, सुरभि, दीपांजलि इत्यादि मौजूद रहे।