राजनैतिक दलों के EVM से जुड़े संदेह दूर करेगा चुनाव आयोग

नई दिल्ली। बीते विधानसभा चुनावों में ईवीएम मशीन को लेकर विपक्षी राजनैतिक पार्टियों ने काफी हंगामा मचाया था। चुनाव आयोग ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में कथित छेड़छाड़ के आरोपों को मद्देनजर रखते हुए 12 मई को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, हाल ही में पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में ईवीएम में कथित छेड़छाड़ के आरोपों के मद्देनजर 12 मई को सभी राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई गयी है।

सूत्रों के अनुसार, बैठक में सभी दलों को आश्वस्त किया जाएगा कि ईवीअम के साथ छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद कई विपक्षी दलों ने ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल उठाए थे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ईवीएम पर कई सवाल उठाये थे और राज्य निर्वाचन आयोग से दिल्ली निकाय चुनाव बैलेट पेपर के जरिये कराने का आग्रह किया था। जिसके बाद कई राजनेताओं ने उनकी काफी आलोचना की थी और उन्हें ईवीएम के बजाय जनता और अपने काम पर ध्यान देने का आग्रह किया था।सू त्रों के अनुसार निर्वाचन आयोग ईवीएम से जुड़े संदेहों को दूर करने के लिए आरोप लगाने वालों को ईवीएम हैक करने की खुली चुनौती देने पर भी विचार कर रहा है।