दुर्गा शंकर मिश्रा होंगे उत्तर प्रदेश के नए मुख्य सचिव, रिटायरमेंट से दो दिन पहले एक साल का सेवा विस्तार

लखनऊ। 1984 बैच के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी दुर्गा शंकर मिश्रा प्रदेश के नए मुख्य सचिव होंगे। खास बात यह है कि रिटायरमेंट से दो दिन पहले केंद्र सरकार ने प्रदेश के मुख्य सचिव के पद पर उनकी नियुक्ति को हरी झंडी दी है। उन्हें एक वर्ष का सेवा विस्तार भी दिया गया है।

राज्य सरकार की ओर से तैनाती के औपचारिक आदेश के बाद मिश्रा मुख्य सचिव का पदभार संभालेंगे। बृहस्पतिवार को उनके कार्यभार ग्रहण करने की संभावना है। विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश की नौकरशाही में बड़ा बदलाव करते हुए राजेंद्र कुमार तिवारी को हटाकर केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर तैनात मिश्रा को मुख्य सचिव बनाने का फैसला किया गया है। भारत सरकार की नियुक्ति संबंधी कैबिनेट कमेटी ने बुधवार को मिश्रा की मुख्य सचिव के पद नियुक्ति के प्रस्ताव को अनुमोदित कर दिया।

पिछले दिनों प्रदेश के ब्राह्मण मंत्रियों व नेताओं के साथ भाजपा के शीर्ष नेतृत्व की बैठक के बाद यह पहला बड़ा बदलाव है। मिश्रा की गिनती पीएम नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद अफसरों में होती है। दरअसल, मौजूदा मुख्य सचिव आरके तिवारी व सरकार के बीच समन्वय की कमी काफी दिनों से चर्चा में थी। ऐसे में मुख्य सचिव को बदले जाने की अटकलें लगती रहीं और इस बार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उन्हें हटाकर भारत सरकार में शहरी विकास मंत्रालय के सचिव मिश्रा को मुख्य सचिव बनाने का फैसला किया गया है। तिवारी के केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने की चर्चा है।

यूपी काडर के आईएएस अधिकारी मिश्रा सोनभद्र व आगरा के डीएम, कानपुर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष, स्टांप एवं पंजीयन विभाग, खाद्य एवं औषधि प्रशासन, कृषि तथा कृषि शिक्षा एवं अनुसंधान, लघु सिंचाई, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव समेत कई अहम पदों की जिम्मेदारी निभा चुके हैं। वह केंद्र में शहरी विकास मंत्रालय समेत कई विभागों में तैनात रहे हैं।