उत्तराखंड: डॉ. रावत ने कहा- ‘मेलों में सरकार की तरफ से दिव्यांगों को मिलेंगे निशुल्क स्टॉल’

सरकार की ओर से प्रदेश भर में लगने वाले विभिन्न मेलों में दिव्यांग जनों को सरकार की ओर से निशुल्क स्टॉल उपलब्ध कराए जाएंगे। इतना ही नहीं राजधानी दून के परेड ग्राउंड में लगने वाले प्रत्येक मेले में एक शाम दिव्यांगों के नाम कार्यक्रम का भी आयोजन किया जाएगा। यह घोषणा उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आईपीएस मेमोरियल इंट्रीग्रेटेड एजुकेशन सोसाइटी के दिव्यांगोत्सव कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि की। रविवार को कौलागढ़ स्थित ओएनजीसी के एएमएन घोष सभागार में आयोजित सोसाइटी के तृतीय दिव्यांगोत्सव कार्यक्रम में प्रदेश भर के 17 स्कूलों के दिव्यांग बच्चों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।

कार्यक्रम में नृत्य, गायन व फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता में बच्चों ने मनमोहक प्रस्तुति देकर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। सोसाइटी के प्रबंधक राजीव नेगी ने कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य दिव्यांग बच्चों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए एक मंच उपलब्ध कराना है। साथ ही भविष्य में आने वाली चुनौतियों से लड़ने के लिए भी दिव्यांग बच्चों को तैयार किया जा रहा है। इस मौके पर हेमा नेगी, जीआईजी मान समेत विभिन्न स्कूलों के शिक्षक व छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।

दिव्यांगोत्सव कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि पहुंचे राज्य उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा वह प्रत्येक ग्रामसभा में एक सार्वजनिक पुस्तकालय बनाया जाएगा। जिसका उद्देश्य ग्रामीणों को शिक्षित करना है। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि आने वाले दस माह बाद श्रीनगर विधानसभा प्रदेश की पहली विधानसभा होगी जो 100 प्रतिशत साक्षर होगी। इस दिशा में सरकार की ओर से काम किया जा रहा है। अभी श्रीनगर में 96 प्रतिशत साक्षर हैं।