जहरीली शराब कांड के लिए DM भी कम जिम्मेदार नहीं : अनिल पाराशर

अलीगढ़। शराब पीने से लोधा में 12 लोगों की मौत पर जनप्रतिनिधियों ने भी प्रशासन व आबकारी विभाग पर ठीकरा फोड़ा है। भाजपा के विधायकों ने इस घटना पर डीएम से लेकर आबकारी विभाग को जिम्मेदार ठहराया है। अधिकारियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराने की मांग तक कर डाली है।

भाजपा विधायक अनिल पाराशर ने तो हिंदुस्तान अख़बार को दिए बयान के मुताबिक यह तक कह दिया कि परचून की दुकानों पर जिले में शराब बिक रही थी। इसको लेकर प्रशासन व आबकारी विभाग को अलर्ट किया गया था, लेकिन इसके बाद भी नहीं जागे। दर्जनों लोगों की शराब पीने से मौत हो गई। जनप्रतिनिधियों ने कहा कि शराब तस्करी का इतना बड़ा खेल एक अधिकारी व कर्मचारी नहीं कर सकते हैं। इसमें अधिकारियों का बड़ा सिंडिकेट शामिल है। मामले में जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि घटना के लिए डीएम भी कम जिम्मेदार नहीं हैं |

भाजपा के कॉल से विधायक अनिल पाराशर बोले कि मुख्यमंत्री ने मामले का संज्ञान लेकर तत्काल कार्रवाई की। जितने भी दोषी अधिकारियों ने लापरवाही की है उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। शराब माफिया लंबे समय से सक्रिय थे, जिसकी जानकारी प्रशासन व आबकारी विभाग को दी गई थी। परचून की दुकानों पर भी शराब बिक रही थी। नकली शराब के धंधे पर कोई लगाम नहीं लगाई गई। जिले के मुखिया से लेकर आबकारी विभाग के आला अफसर जिम्मेदार हैं। अधिकारियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा कायम होना चाहिए। सीएम के प्रमुख सचिव एसपी गोयल से लखनऊ में मुलाकात हुई और उनको पूरे घटनाक्रम से अवगत कराया गया है।