अलीगढ और AMU में CM योगी के दौरे की हो रहीं चर्चाएं, देश- विदेश में बटोरी सुर्खियां

अलीगढ | अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में कट्टर हिंदुत्व की छवि के लिए विख्यात सीएम योगी के दौरे की चर्चाएं देश और विदेश में हैं | अलीग बिरादरी ने सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म पर तरह तरह की प्रतिक्रियाएं दी हैं | दूसरे दिन भी अलीगढ में योगी के दौरे की ही चर्चाएं हैं |योगी के दौरे ने अलीग बिरादरी में देश और विदेश में सुर्खिया बटोरी हैं |

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को अलीगढ़ पहुंचे। मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर एएमयू के क्रिकेट ग्राउंड पर उतरा था। सीएम योगी यहां से सीधा जिला कलेक्ट्रेट पहुंचे और यहां कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान में सीएम ने सूचनाओं के आदान-प्रदान, कोविड मरीज़ो के रिकॉर्ड, आइसोलेशन की स्थिति व कोविड से बचाव की व्यवस्थाओं पर सवाल भी पूछे। मुख्यमंत्री के साथ प्रभारी मंत्री सुरेश राणा भी मौजूद रहे। यहां से सीधे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के सभागार में बैठक करने पहुंचे। 

सीएम योगी ने कहा कि एएमयू में शिक्षकों की हो रही मौत की हकीकत जानने यहां आया हूं। उन्होंने कहा कि एएमयू में 16 में से 10 मौतें कोरोना से हुई हैं। अधिकांश शिक्षकों ने वैक्सीन की पहली डोज नहीं ली थी। प्रशासनिक अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों और एएमयू वीसी व अन्य चिकित्सकों के साथ सीएम योगी ने बैठक की। बैठक के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि अलीगढ़ मंडल में एक्टिव केस घट रहे। सभी जनपद जांच बढ़ा रहे हैं। ऑक्सीजन लगातार भेजी जा रही है। 161 वेंटिलेटर मंडल में चालू हैं।

14 ऑक्सीजन प्लांट शुरू होने जा रहे हैं। तीन सक्रिय हो गए हैं। 108 की एम्बुलेंस को कोविड के लिए लगाने के निर्देश दिए गए हैं। अब तक 85 लगी हुई हैं। एएमयू में सिर्फ 16 की मौत हुई। प्रोफेसरों की मौत पर कुलपति ने बताया कि 10 की मेडिकल, 4 की अन्य जगह व 2 की दिल्ली में हुई है।  वहीं, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय पहुंचे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नए विश्वविद्यालय के जेएन मेडिकल कॉलेज में कोरोना वायरस संक्रमण से रोकथाम के लिए किए जा रहे उपायों के संबंध में विचार विमर्श किया। मेडिकल कॉलेज के डेंटल कॉलेज वाले ऑडिटोरियम में हुई बैठक में मुख्यमंत्री के समक्ष मेडिकल कॉलेज में हो रही ऑक्सीजन की आपूर्ति में परेशानी की बात भी रखी गई। मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि जल्द से जल्द यह व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी कि मेडिकल कॉलेज को थोड़ी देर के लिए भी ऑक्सीजन का संकट न करना पड़े।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने मेडिकल कॉलेज की क्षमता, चिकित्सा संस्थान, उपलब्ध संसाधन, आगामी विस्तार की परियोजनाएं, बेड की क्षमता, कोविड-19 टेस्टिंग की मशीनें आदि के विषय में जानकारी ली। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जल्दी मेडिकल कॉलेज की उपकरणों की क्षमता में विस्तार किया जाएगा। इस दौरान कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर, मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल प्रोफेसर शाहिद अली सिद्दीकी, रजिस्ट्रार अब्दुल हमीद व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।