दिल्ली-एनसीआर में छाई घने कोहरे की चादर, कम विजिबिलिटी से वाहन चालकों की परेशानी में इज़ाफ़ा

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में लगातार दूसरे दिन घना कोहरा छाया हुआ है, इससे वाहन चालकों को खासी दिक्कत हो रही है। शुक्रवार सुबह से छाए कोहरे की वजह से कई इलाकों में विजिबिलिटी 500 मीटर से कम रही, तो दिल्ली के पालम एयरपोर्ट के पास विजिबिलिटी 100 मीटर के आसपास पहुंच गई। वहीं, दिल्ली-एनसीआर में वाहन चालकों को अपनी गति धीमी करने के साथ फाग लाइट का भी सहारा लेना पड़ा।

जागरण संवाददाता के मुताबिक, दिल्ली के साथ नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद के साथ साथ हरियाणा के शहरों में मसलन गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल और सोनीपत घने कोहरे की चपेट में है। मिली जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार सुबह दिल्ली के पालम समेत कई इलाकों में घना कोहरा देखा गया। कोहरे की वजह से पालम समेत कई इलाकों में शुक्रवार को विजिबिलिटी 100 मीटर रह गई। पालम के अलावा सफदरजंग में भी घने कोहरे की वजह से विजिबिलिटी पर बुरा असर पड़ा है।

दिल्ली-एनसीआर में छाए घने कोहरे का प्रभाव सड़कों पर पड़ा है, वहीं ट्रेनों का परिचालन भी प्रभावित हो रहा है। राजधानी और शताब्दी समेत कई दर्जन ट्रेनें देरी से दिल्ली पहुंच रही हैं। खासकर उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पंजाब, हरियाणा और पश्चिम बंगाल के ट्रेन यात्रियों को परेशानी हो रही है। शुक्रवार सुबह से ही दिल्ली आने वाली ट्रेनों के देरी से पहुंचने का सिलसिला जारी है।

इससे पहले बृहस्पतिवार को भी दिल्ली आने वालीं अधिकांश राजधानी एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से देरी से पहुंची। इस कड़ी में डिब्रुगढ़ राजधानी एक्सप्रेस लगभग साढ़े तीन घंटे की देरी से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहुंची। लंबी दूरी की कई अन्य ट्रेनें भी एक से चार घंटे विलंब रही। पिछले कुछ दिनों से ट्रेनों की आवाजाही कोहरे की वजह से प्रभावित हो रही है। अधिकारियों का कहना है कि ²श्यता कम होने से कारण ट्रेनों की रफ्तार कम करनी पड़ती है जिस वजह से उन्हें अपने गंतव्य पर पहुंचने में देरी हो रही है। यात्रियों को परेशानी न हो इसका ध्यान रखा जा रहा है।