ठंड से ठिठुरी दिल्ली, राजस्थान-कश्मीर में माइनस में पहुंचा तापमान, ओड़िशा में 10 डिग्री के नीचे लुढ़का पारा

नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में ठंड ने अपना प्रकोप बढ़ाना शुरू कर दिया है। दिल्ली में जहां तापमान में तेज गिरावट दर्ज की गई है, वहीं राजस्थान, हिमाचल समेत पूरे उत्तर भारत में शीतलहर ने ठंड को और बढ़ा दिया है। राजस्थान और जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में माइनस में तापमान पहुंच गया है। वहीं ओड़िशा में भी पारा 10 डिग्री के नीचे लुढ़क गया।

ओड़िशा में भी इसबार अच्छी खासी ठंड पड़ रही है और कई जगहों पर पारा 10 डिग्री के नीचे लुढ़क गया। ओडिशा में 13 स्थानों पर सोमवार को न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे दर्ज किया गया और कंधमाल जिले का दारिंगबाड़ी चार डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा। विशेष राहत आयुक्त ने बताया कि राज्य के 13 केंद्रों पर रात का तापमान शून्य से 10 डिग्री सेल्सियस से कम दर्ज किया गया। दारिंगबाड़ी राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा।

इसके अलावा झारसुगुड़ा में 5.6, फूलबनी में 6.5, सोनेपुर में 6.9, क्योंझर में 7.4, सुंदरगढ़ में आठ, बोलांगीर में आठ, भवानीपटना में 8.9, संबलपुर में नौ, तालचर में नौ, हीराकुंड में नौ, टिटलागढ़ में 9.3 और बारीपदा में 9.5 तापमान रहा। कोरापुट में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस, राज्य की राजधानी भुवनेश्वर में 13.8 और कटक में 12.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने अनुमान जताया है कि ओडिशा के जिलों में आगामी दो दिन में तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की और गिरावट आ सकती है और इसके बाद कोई बड़ा बदलाव नहीं आएगा। आगामी चार से पांच दिन में ओडिशा के जिलों में दो से चार डिग्री सेल्सियस तक न्यूनतम तापमान रहेगा।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया है कि एक कम दबाव बंगाल की खाड़ी और उससे सटे भूमध्यरेखीय हिंद महासागर के ऊपर बना हुआ है, जो एक चक्रवाती सर्कुलेशन के साथ समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक फैला हुआ है। इसके पूर्व और उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने की संभावना है। इससे निकोबार द्वीप समूह में बारिश हो सकती है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने अनुमान जताया है कि ओडिशा के जिलों में आगामी दो दिन में तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की और गिरावट आ सकती है और इसके बाद कोई बड़ा बदलाव नहीं आएगा। आगामी चार से पांच दिन में ओडिशा के जिलों में दो से चार डिग्री सेल्सियस तक न्यूनतम तापमान रहेगा।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया है कि एक कम दबाव बंगाल की खाड़ी और उससे सटे भूमध्यरेखीय हिंद महासागर के ऊपर बना हुआ है, जो एक चक्रवाती सर्कुलेशन के साथ समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक फैला हुआ है। इसके पूर्व और उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने की संभावना है। इससे निकोबार द्वीप समूह में बारिश हो सकती है।

अगर दिल्ली की बात करें तो शीत लहर के कारण सोमवार को न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस तक गिरने की उम्मीद है। सोमवार सुबह दिल्ली का न्यूनतम तापमान 4.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। इसके साथ ही हवा की क्वालिटी भी “खराब’ श्रेणी में बनी हुई है।