बुलंदशहर हिंसा के बाद बिगड़ सकते हैं पश्चिमी यूपी के हालात, खतरनाक है ख़ुफ़िया इनपुट

मेरठ | वेस्ट यूपी में गोकशी की वारदात कभी भी माहौल को बिगाड़ सकती हैं। यहां गोकशी की वारदात के बाद सांप्रदायिक तनाव की स्थिति बन जाती है। मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली, सहारनपुर और बागपत समेत कई जनपदों में माहौल खराब करने की साजिश भी हो चुकी है। खुफिया विभाग कई बार शासन को इनपुट भेज चुका कि वेस्ट यूपी में जिलों में गोकशी जैसे मुद्दों से बवाल कराने की प्लानिंग चल रही है। इसको लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट है। इसके बावजूद बुलंदशहर जिले में बवाल हो गया।

गोकशी पर सांप्रदायिक माहौल बनाकर वेस्ट को सुलगाने की गहरी साजिश है। 2019 चुनाव से पहले वेस्ट यूपी में बवाल हो सकता है, गोकशी विस्फोटक करा सकती है। इसको लेकर खुफिया विभाग शासन को इनपुट कई बार भेज चुका है।

मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली, सहारनपुर समेत कई जिलों में गोकशी पर हिंदू संगठन और दूसरे समुदाय के लोग आमने सामने आए। कई बार स्थिति ऐसी बनी कि गोकशी को लेकर पथराव, वाहनों में तोड़फोड़ व आगजनी की घटना हो चुकी है। पुलिस पर फायरिंग तक हो चुकी है। मेरठ में खासतौर पर लिसाड़ीगेट, ब्रह्मपुरी, सरधना, सरूरपुर, किठौर, भावनपुर,जानी, इंचौली, दौराला, खरखौदा और मुंडाली में गोकशी सांप्रदायिक तनाव की स्थिति बनवा चुकी है।

( Bulandshahr ) ( Uttar Pradesh ) ( Inspector Subodh )