अलीगढ़ में भी होगी कोरोना वायरस की जांच, JN मेडिकल कालेज में बनी टीम

अलीगढ | अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के जेएन मेडिकल कॉलेज को स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार ने कोरोना वायरस की जांच करने की जिम्मेदारी सौंपी है। साथ ही मंत्रालय ने मेडिकल कॉलेज को आगरा, इटावा, अलीगढ़ जिले के मरीजों की जांच करने के लिए अधिकृत किया है।

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) पुणे ने जेएन मेडिकल कॉलेज को कोरोना वायरस की जांच करने का जिम्मा सौंपा है। माइक्रोबायोलॉजी डिपार्टमेंट के चेयरमैन व मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉ. हारिस एम खान ने बताया कि लोगों का कोरोना वायरस का सैंपल जिला अस्पताल मलखान सिंह व आगरा के मरीजों का सैंपल मेडिकल कॉलेज से आएगा, जबकि सैफई (इटावा) के मेडिकल कॉलेज से सैंपल आएगा।

यह सैंपल अधिकृत कोरियर सेवा से भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि एनआईवी पुणे ने कोराना की जांच करने को कहा है। अगर सैंपल पाजिटिव पाया जाता है, तो उसे पुणे भेज दिया जाएगा। माइक्रोबायोलॉजी विभाग के लैब में डॉ. हारिस एम खान के नेतृत्व में पांच सदस्यीय टीम कोरोना वायरस के सैंपल जांच करेगी। डॉ. हारिस ने कहा कि जो जिम्मेदारी मेडिकल कॉलेज को मिली है, उसका निर्वहन करूंगा।

उधर, एएमयू एल्युमिनी अफेयर्स कमेटी के प्रतिनिधि इंजी. आगा यूनुस ने कहा कि कोरोना वायरस की जांच के लिए प्रशासन व मेडिकल कॉलेज प्रशासन से मांग की थी। मरीजों के लिए बेड के इंतजाम आइसोलेशन क्षेत्र में रखे जाएं।