हरियाणा के गांवों में कोरोना का खौफ, यहां लगाई बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक-

चंडीगढ़ | हरियाणा में भी कोरोनोवायरस के मामलों की संख्या बढ़ने के साथ ही सोनीपत, भिवानी और हिसार जिलों की कई ग्राम पंचायतों में बाहरी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, जिसमें गांव के रिश्तेदार शामिल हैं। भिवानी जिले के हसन गांव के सरपंच प्रताप सिंह ने कहा कि उन्होंने कोविड-19 को रोकने के उपाय के रूप में अपने गांव में बाहरी लोगों और रिश्तेदारों के प्रवेश पर रोक लगा दी है।

उन्होंने कहा कि हमने गांव की सीमाओं को सील कर दिया है और खेतों में जाने वाले लोगों को ही वहां से गुजरने दिया जाता है। उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। गांव में किराने और सब्जी की दुकानें खोली जाती हैं। भिवानी के गड़वा गांव की सरपंच सोनिया राहड़ ने कहा कि उन्होंने गांव में न रहने वाले लोगों से कहा है कि वे अपना मेडिकल चेकअप करवाएं। वहीं, हिसार के पबरा गांव के यूथ क्लब ने बाहरी लोगों को गांव में प्रवेश करने की अनुमति नहीं देने का फैसला किया है और गांव की सीमाओं पर पहरा देना शुरू कर दिया है। यूथ क्लब के सदस्यों ने टायर और ईंट से बैरिकेड्स लगाकर प्रवेश मार्गों को सील कर दिया है।

जागृति मंच, पबरा गांव के राजेंद्र कुमार ने कहा कि लोग कोविड-19 के परिणाम को नहीं समझ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर इंसान को अपने घरों के अंदर रहने के लिए कहा है और जो लोग आपात स्थिति में हैं, उन्हें ही इससे छूट दी गई है। कई लोग केवल मनोरंजन के लिए शहर जा रहे हैं। हमने गांव के सभी संभावित प्रवेश और निकास मार्गों को सील करने का फैसला किया है। अब लोग वहां घरों में बैठे हैं।