कांग्रेस की मांग : स्ट्रॉन्ग रूम व मतगणना के परिसरों में लगाए जाएं जैमर

मुंबई। कांग्रेस ने मंगलवार को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन वाले स्ट्रांग रूम और मतगणना केंद्रों के परिसरों में मोबाइल फोन जैमर लगाने की मांग की, क्योंकि लोगों को लगता है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है। विपक्षी दल ने चुनाव आयोग (ईसी) से कहा कि उसकी मांग लोकतंत्र और मतदान प्रक्रिया की प्रमाणिकता के हित में मानी जानी चाहिए।

महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को हुए मतदान में इस्तेमाल की गई ईवीएम को राज्य के विभिन्न स्थानों पर स्ट्रॉन्ग रूममें रखा गया है। मतगणना के लिए उन्हें 24 अक्टूबर को खोला जाएगा। कांग्रेस की इस मांग से दो दिन पहले उसके सहयोगी राकांपा ने मतदान के दिन से लेकर मतगणना के दिन तक हर मतदान केंद्र व स्ट्रांग रूम के तीन किलोमीटर के दायरे में इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने की अपील की थी।

महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष बालासाहेब थोराट ने मंगलवार को राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिखकर जैमर स्थापित करने की मांग की। जैमर एक तरह का उपकरण होता है, जिसका इस्तेमाल एक निर्धारित सीमा के भीतर मोबाइल फोन सेवाओं के संचालन को अवरुद्ध करने के लिए किया जाता है। उन्होंने कहा, ‘‘लोगों को लगता है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है। इसलिए, स्ट्रांग रूम और मतगणना केंद्र के परिसरों में जैमर लगाए जाने चाहिए।’