उप्र: CM योगी ने खोला 3.84 लाख करोड़ के बजट का पिटारा

योगी आदित्यनाथ सरकार का पहला आम बजट मंगलवार को विधानसभा में  वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने दोपहर विधानसभा में पेश क‌िया। कुल 3.84 लाख करोड़ का बजट पेश क‌िया गया ज‌िसमें 55781 करोड़ की नई योजनाएं शाम‌िल की गईं। बजट का आकार 3 लाख 84 हजार 659 करोड़ 71 लाख रुपये (384659.71 करोड़ रुपये) है, जो वर्ष 2016-17 के बजट के मुकाबबले में 10.9 प्रतिशत अधिक है।
इस दौरान उन्होंने कहा, भगवान श्रीराम का नाम लेना हमारी प्रत‌िबद्धता है। राम को नमन करते हुए बताना चाहता हूं क‌ि बहुत चुनौतियां है। हमें आर्थिक विपन्नता हासिल हुई। इसके बाद उन्होंने शेर पढ़ने के साथ बजट पेश क‌िया। उन्होंने बताया, बजट में ग्रामीण और क‌िसानों का खास ध्यान रखा गया है। उन्होंने बताया क‌ि संकल्प पत्र को ध्यान रखते हुए बजट तैयार क‌िया गया है। उन्होंने कहा, प्रदेश से गरीबी हटाना हमारी प्राथम‌िकता है। उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री जी के शब्दों में कहना चाहूंगा, न‌िर्दोष को छेड़ेंगे नहीं, दोष‌ियों को छोड़ेंगे नहीं। व‌ित्तमंत्री ने 3.84  लाख करोड़ का बजट सदन में पेश किया ज‌िसमें  55781 करोड़ की नई योजनाएं शाम‌िल की गईं। इस दौरान उन्होंने कहा क‌ि 10 फीसदी व‌‌िकास दर प्राप्त करना हमारा लक्ष्य है। वहीं सीएम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बजट के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा, शिक्षा विभाग के लिए सबसे ज्यादा बजट की व्यवस्था की गई है।66599 करोड़ शिक्षा व‌िभाग, 15670 करोड़ सड़कों के ल‌िए, सिंचाई विभाग के लिए 60123 करोड़, राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार के लिए 2900 करोड़ और स्वच्छ भारत मिशन के लिए 600 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। सीएम ने कहा, बजट का आकार बढ़ा है, जीडीपी बढ़ी है। फिजूलखर्ची के साथ भ्रष्टाचार को रोका है। पहली बार नागरिकों पर बिना अतिरिक्त टैक्स और रोक लगाए हुए और बिना किसी के सामने हाथ फैलाए ये बजट घोषित किया गया है।