अलीगढ़ में CM योगी, लोगों को 446.27 करोड़ की सौगात, पढ़िए हैबिटेट सेंटर से कही ये बड़ी बातें-

अलीगढ़। अलीगढ़ में सीएम योगी के दो दिवसीय दौरे से जिले के नागरिकों को कई सौगात मिली हैं । शहर में स्मार्ट सिटी का बहुप्रतीक्षित हैबिटेट सेंटर स्व. बाबू कल्याण सिंह के नाम से जाना जाएगा। मुख्यमंत्री ने हैबिटेट सेंटर के प्रेक्षागृह में हैबिटेट सेंटर का नाम बाबू कल्याण सिंह के नाम पर किए जाने की घोषणा की। कहा कि बाबू कल्याण सिंह ने सत्ता में पहली बार आने के बाद कानून का राज स्थापित किया था, जिसका लोगों को आजादी के बाद से इंतजार था।

लाल डिग्गी पर बने सात मंजिला हैबिटेट सेंटर में शनिवार को मुख्यमंत्री का कार्यक्रम आयोजित किया गया। मुख्यमंत्री ने योगी आदित्यनाथ ने हैबिटेट सेंटर को अलीगढ़ की पहचान करार दिया। कहा कि हैबिटेट सेंटर स्मार्ट सिटी मिशन का एक उदाहरण है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अलीगढ़ में हैबिटेट सेंटर की मांग लंबे समय से चल रही थी। स्मार्ट सिटी मिशन के तहत स्मार्ट सिटी की टीम व मेयर मो. फुरकान के सहयोग से हैबिटेट सेंटर तैयर हो सका। मुख्मयंत्री ने हैबिटेट सेंटर की खासियत का भी उल्लेख किया। कहा कि हैबिटेट सेंटर को आकर्षक तरीके से बनाया गया है। इसमें समस्त सुविधाएं मिलेंगी। पार्किंग की व्यवस्था है और यहां से पूरे शहर पर नजर रखी जाएगी। कहा कि सेफ सिटी का काम हैबिटेट सेंटर करेगा। बहन-बेटियों की सुरक्षा यहां से की जाएगी। अलीगढ़ वालों के लिए हैबिटेट सेंटर यादगार बनेगा।

सीएम ने कहा कि बाबू कल्याण सिंह ने प्रदेश में अपने पहले कार्यकाल में ही सुरक्षा का वातावरण कैसा होना चाहिए, इसके लिए एक आदर्श व्यवस्था दी। अलीगढ़ के उत्पाद को कैसे मान्यता मिले, इसकी परिकल्पना भी 31 वर्ष पहले बाबू कल्याण सिंह ने दी थी। ओडीओपी के तहत अब यह परिकल्पना भी पूरी हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार पैसा लगा रही है इसका मलतब योजनाओं से आम जनमानस दूर रहे। पैसा आपका है और पैसा इमानदारी के साथ योजनाओं में लगे इसकी जिम्मेदारी आपकी भी है। हैबिटेट सेंटर का निर्माण सरकार, जनप्रतिनिधियों व प्रशासन के सहयोग से हुआ है।

शॉपिंग का केंद्र बनेगा हैबिटेट सेंटर-
सीएम योगी ने कहा कि हैबिटेट सेंटर शॉपिंग कांप्लेक्स का हब बनेगा। हैबिटेट सेंटर में 170 से अधिक वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था की गई है। अच्छे कांफ्रेंस रूम बनाए गए हैं। पूरे शहर की ट्रैफिक व्यवस्था और सेफ सिटी के तहत हर बेटी, हर व्यक्ति को और हर वाहन को सुरक्षा की गारंटी भी मिलेगा। यहां के विकास की परियोजनाओं को आगे बढ़ाने के लिए एक ऑडिटोरियम भी बनाया गया है। ये हैबिटेट सेंटर अलीगढ़ को पहचान दिलाने के लिए जाना जाएगा। इसे बाबू कल्याण सिंह के नाम से पहचाना जाना चाहिए।

अलीगढ़ के लोगों से की ये अपील-
मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ की जनता को विश्वास दिलाया कि प्रदेश के पैसे में आपकी हिस्सेदारी है। अलीगढ़ के विकास में बजट आड़े नहीं आएगा। जनप्रतिनिधि योजनाएं बनाएं प्रशासन उसका क्रियान्वयन करेगा। आम जन मानस जुड़कर विकास को आगे बढ़ाएं। स्वच्छता के कार्यक्रम नगर निगम चलाए, लेकिन हमारी भी जिम्मेदारी है कि शहर को स्वच्छ बनाएं। घर का कूड़ा बाहर न फेंकें। बहाना बनाने से नहीं, ईमानदारी से इन कार्यक्रमों को आगे बढ़ाना होगा। अलीगढ़ के किसी भी विकास योजना के लिए धनराशि आड़े नहीं आएगी।

सीएम योगी ने किया इन विकास परियोजनाओं का किया लोकार्पण एवं शिलान्यास-
मुख्यमंत्री 367.49 करोड की 58 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं 78.78 करोड की 6 परियोजना का शिलान्यास किया। अलीगढ़ को 446.27 करोड़ से 64 परियोजनाओं की सौगात दी गई। 79.18 करोड़ से हैबीटेट सेन्टर, 6.95 करोड़ से थाना गोधा के अनावासीय भवन, 2.90 करोड़ से गभाना, हरदोई में पशु चिकित्सालय, मजूपुर सुबकरा में वृहद गौ संरक्षण केन्द्र एवं राजकीय जवाहर पार्क में डिसीमिनेशन सेन्टर, 30.48 करोड़ से वाणिज्य कर कार्यालय भवन समेत 7.126 करोड़ से पिसावा-गोठनी मार्ग, 13.751 करोड़ से दौरऊ मोड़ से पिसावा मार्ग, 1.821 करोड़ से दरगवां बिजलीघर से गुरु गोरखनाथ सिद्धपीठ मंदिर डेटा कलां मार्ग, 1.060 करोड़ से चीती से सिद्धनगर हनुमान मंदिर मार्ग, 1.316 करोड़ से मोहम्मदपुर बढेरा से चामुण्डा मन्दिर होते हुए विजय नगलिया तक मार्ग, 7.036 करोड़ से खैर-सोमना मार्ग पर चैनेज 12.250 से 16.820 तक मार्ग का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य, 2.409 करोड़ से बामौती से बिसारा शहीद मार्ग, 2.354 करोड़ से ग्राम राइट से बसई मार्ग, 1.098 करोड़ से पखोदना से रायपुर मार्ग, 1.291 करोड़ से रामघाट मार्ग के 31 किलोमीटर से गौशाला होते हुए कौशलपुरी मार्ग, 2.065 करोड़ से कटरा बरौली मार्ग, 0.823 करोड़ से रामघाट रोड से गोवली मार्ग, 0.597 करोड़ से विशेष मरम्मत के तहत पीटीए मार्ग से मोर मानपुर वाया खण्डेहा बाजौता मार्ग पर विशेष मरम्मत कार्य एवं 0.547 करोड़ से एनएच 91 पेराई मार्ग पर विशेष मरम्मत कार्य, 51.743 करोड़ से सांकरा गंगा घाट पर अतिरिक्त पहुॅच मार्ग, 0.910 करोड़ से भोजपुर में जहारवीर बाबा मन्दिर से शिव मन्दिर भोजताल तक मार्ग, 3.30 करोड़ से जलालपुर से राऊपुर पिसाव गोठनी लिंक मार्ग, 1.560-1.560 करोड़ से थाना दादों, पाली, बरला, गभाना, अकराबाद, इगलास एवं खैर में 32 क्षमता के हॉस्टर, बैरक व एक विवेचना कक्ष का निर्माण, 11.90 करोड़ से खैर में राजकीय आईटीआई का निर्माण, 2.086 करोड़ से किला बेसवां से शेरनी मार्ग, 1.382 करोड़ से दहोड़ा से ईखू मार्ग, 1.385 करोड़ से नगला मल्लू से जटवार मार्ग, 1.074 करोड़ से निठावरी से आसफाबाद मार्ग, 1.780 करोड़ से खैर टेंटी गांव मार्ग से मसंदगढ़ी मार्ग, 1.020 करोड़ से बूढ़ा गांव पुल का अतिरिक्त पहुँच मार्ग, 0.748 करोड़ से पनैठी-हनुमान चौकी मार्ग पर विशेष मरम्मत कार्य, 0.848-0.848 करोड़ से थाना मडराक एवं छर्रा में 16 व्यक्तियों की क्षमता के हॉस्टल, विवेचना कक्ष का निर्माण, 7.138 करोड़ से ग्राम रहमापुर में चौंचई एवं सिल्ला विसावनपुर के मध्य काली नदी पर लघु सेतु व पहुॅच मार्ग का निर्माण, 1.703-1.703 करोड़ से बालिका छात्रावास कलाई, गोधा, सहनोल, 6.10 करोड़ से खेलो इंडिया योजनांतर्गत अलहदादपुर में मल्टीपर्पज हाल, 3.98 करोड़ से गंगीरी निकट धर्मकांटा से नगला हरदोई मार्ग, 4.76 करोड़ से अनूपशहर रोड से पहासू रोड तक, 8.77 करोड़ से अनूपशहर रोड से सिकन्दरपुर कोटा वाय अमरौली मार्ग, 3.50 करोड़ से पीटीए से ग्राम महाराजगढ़ मार्ग, 5.61 करोड़ से टप्पल से जैदपुरा वाया सिमरौठी मार्ग, 2.38 करोड़ से दादों सासनी चितरौली मार्ग, 3.76 करोड़ से हरदोई नरूपुरा कटका रोड से नगला कटका तक मार्ग, 60.210 करोड़ से मिठनपुर-सांकरा गंगा नदी पर सेतु निर्माण, 0.851 करोड़ से मोहन लाल गौतम राजकीय महिला चिकित्सालय में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण, 1.690 करोड़ से ऑपरेशन कायाकल्प के तहत 51 प्राथमिक विद्यालयों में फर्नीचर का हस्तांतरण, 0.420 करोड़ से 15 कम्पोजिट विद्यालयों में विज्ञान मन्दिर की स्थापना, 0.330 करोड़ से बायो गैस संयत्र के निर्माण कार्या का लोकार्पण किया गया। इसके अलावा 7.92 करोड़ से थाना महुआ खेड़ा और 8.12 करोड़ से थाना गोधा के आवासीय भवन, 22.56 करोड़ से जन विश्लेषक मण्डलीय कार्यालय लोधा, 1.525 करोड़ से मनोहरपुर कायस्थ मार्ग पर क्षतिग्रस्त लघु सेतु निर्माण कार्य और 3.751 करोड़ से मुरसान इगलास मार्ग से बड़ा कला मार्ग तक निर्माण एवं 34.91 करोड़ से स्वच्छ भारत मिशन-2 के अन्तर्गत 98 ग्रामों में ठोस व तरल अवशिष्ट प्रबन्धन कार्यों का शिलान्यास किया गया।