दिल्ली पुलिस-वकीलों में झड़प : अपराध शाखा की SIT करेगी जांच, निगरानी करेंगे स्पेशल सीपी

नई दिल्ली | तीस हजारी कोर्ट में हुए बवाल की जांच स्पेशल सीपी की निगरानी में अपराध शाखा की एसआईटी करेगी। देर रात जारी बयान में दिल्ली पुलिस ने यह जानकारी दी। अधिकारियों के मुताबिक, खुद स्पेशल सीपी पूरे घटनाक्रम की जांच करेंगे। पुलिस ने वकीलों और पुलिस की ओर से मिली शिकायत के बाद क्रॉस एफआईआर दर्ज की है। बवाल के दौरान एक अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त और दो एसएचओ समेत कुल 20 पुलिसकर्मियों को चोटें लगी हैं। 8 वकील भी घायल हुए हैं।

दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त प्रवक्ता अनिल मित्तल ने बताया कि वकीलों ने लॉकअप तोड़कर अंदर घुसने की कोशिश की तो पुलिस ने कैदियों की सुरक्षा और आत्मरक्षा के लिए हवा में गोली चलाई, जो वकील को जा लगी। यह गोली वकील को कैसे लगी, इसकी जांच सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (सीएफएसएल) की टीम करेगी। पुलिस ने लॉकअप के बाहर और अंदर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज कब्जे में ले ली है।

पुलिस के मुताबिक, दोपहर 2 बजे तीसरी बटालियन के संतरी ने वकील से कार को कहीं और पार्क करने के लिए कहा था। विवाद के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी पहुंचे तो वकीलों ने इकट्ठा होकर उनसे भी बदसलूकी की। इसके बाद ही हवा में गोली चलाई गई। बवाल के दौरान 12 निजी बाइक, पुलिस की एक क्यूआरटी जिप्सी और 8 जेल वैन को वकीलों ने क्षति पहुंचाई। कैदियों को ह्यूमन चेन बनाकर सुरक्षा दी गई। इसके बाद सभी कैदियों को तिहाड़ जेल पहुंचाया गया।