चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी MMS कांड : पंजाब सरकार ने दिए जांच के आदेश, वीडियो बनाने वाली लड़की गिरफ्तार

चंडीगढ़ | चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल में छात्राओं के एमएमएस बनाने के मामले में पंजाब सरकार ने जांच के आदेश दे दिए हैं। इस मामले पर पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जो भी दोषी होगा सख्त कार्रवाई करेंगे। आप सभी से अपील है करता हूं कि अफवाहों से बचें।

वीडियो बनाने वाली आरोपी लड़की गिरफ्तार-
छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो बनाने वाली आरोपी लड़की को गिरफ्तार कर लिया गया है। चंडीगढ़ विश्वविद्यालय ने अपने एक बयान में कहा कि अन्य छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो शूट करने की सभी अफवाहें पूरी तरह से झूठी और निराधार हैं। किसी भी छात्र का कोई वीडियो आपत्तिजनक नहीं मिला, सिवाय एक लड़की द्वारा शूट किए गए एक निजी वीडियो के, जिसे उसके प्रेमी के साथ साझा किया गया था।

मोहाली के एसएसपी विवेक शील सोनी ने कहा कि यूनिवर्सिटी एमएमएस मामले में अब हम मामले में विस्तृत जांच कर रहे हैं। हमारे पास जो भी जानकारी और वीडियो है उसकी फोरेंसिक जांच करवा रहे हैं। हमने अभी तक जो जांच की है उसमें यह बात साफ आती है कि जो वीडियो है वो उसकी खुद की है, उसके अलावा किसी और की कोई वीडियो नहीं है। उन्होंने कहा, “इस मामले में कहा जा रहा है कि वायरल वीडियो के अलावा और भी कुछ वीडियो बनाए गए हैं, ये बात सरासर गलत है। हमारी जांच में ऐसा कोई दूसरा वीडियो सामने नहीं आया है। हमारी तरफ से FIR दर्ज कर ली गई है, एक छात्रा को हमने गिरफ्तार भी कर लिया है।”

यह है पूरा मामला ?
यह पूरा मामला चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल का है। आरोप है कि एक लड़की, हॉस्टल में रहने वाली दूसरी छात्राओं का नहाते समय वीडियो बनाया करती थी। शनिवार रात को छात्राओं ने लड़की को वीडियो बनाते समय पकड़ लिया। आरोप यह भी है कि आरोपी लड़की ने पहले वीडियो बनाया फिर उस वीडियो को अपने दोस्त को भेजा और सोशल मडिया पर वीडियो को वायरल करा दिए। आरोपी लड़के के पकड़े जाने के बाद यूनिवर्सिटी में हंगामा खड़ा हो गया। छात्राएं प्रदर्शन करने लगीं। इसी दौरा एक लड़की को हार्ट अटैक आ गया। इसके बाद लड़की को अस्पताल में भर्ती कराया गया। मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।