चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी : MMS कांड से सहमा देश, छात्राओं का नहाते हुए वीडियो वायरल !

चंडीगढ़ | पंजाब के मोहाली से परेशान करने वाली खबर सामने आई है। मोहाली का नामी निजी यूनिवर्सिटी एमएमएस कांड से सहम उठा है। बताया जा रहा है कि शनिवार देर रात उस समय यूनिवर्सिटी में हड़कंप मच गया जब हॉस्टल की एक छात्रा ने अन्य छात्राओं के अश्लील वीडियो बनाकर शिमला में बैठे अपे दोस्त के जरिए सोशल मीडिया पर वायरल करा दिए। जैसे ही छात्राओं को इस बात की खबर लगी। यूनिवर्सिटी में हंगामा खड़ा हो गया। माहौल तनावपूर्ण हो गया।

यूनिवर्सिटी में छात्राओं ने हंगामा करना शुरू कर दिया। इसी दौरान एक छात्रा को हार्ट अटैक आ गया, जबकि कुछ छात्राओं की तबीयत बिगड़ गई। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी छात्रा को हिरासत में ले लिया। मोहाली के एसएसपी विवेकशील सोनी ने कहा, “यह एक छात्रा द्वारा शूट किए गए और प्रसारित किए वीडियो का मामला है। मामले में प्राथमिकी दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक लड़की की तबीयत बिगड़ी थी। उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। किसी की मौत नहीं हुई है।”

खबरों के अनुसार, यूनिवर्सिटी के हास्टल में एक छात्रा रोजाना हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों के वीडियो बनाती थी। वह उनके कपड़े बदलने या नहाने के समय ही यह वीडियो बनाती थी। इसके बाद वह अपने दोस्त को वीडियो भेज देती थी। कुछ दिनों से लड़कियां उसे नोटिस कर रही थीं। शनिवार को लड़कियों ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया। इसके बाद संस्थान के अधिकारियों को इस बारे में सूचना दी।

मौके पर ही आरोपी लड़की से पूछताछ की गई। पूछताछ में आरोपी लड़की ने यह स्वीकार किया कि वह अपने दोस्त को वीडियो भेजती थी। वह अपने दोस्त के कहने पर ही वीडियो बनाती थी। खबरों के मुताबिक, जब इस बात की खबर कुछ लड़कियों को लगी तो कुछ ने सुसाइड की कोशिश भी की। इसके बाद कुछ छात्राओं ने जमकर हंगामा किया। आलम यह था कि यूनिवर्सिटी के गेट तक बंद करने पड़े। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है |

पंजाब के स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रों से शांत रहने की अपील की है और उन्हें आश्वासन दिया है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। पंजाब राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष मनीषा गुलाटी ने कहा कि यह गंभीर मामला है, यह बहुत दुखद है। इस मामले की जांच की जा रही है। मैं यहां सभी छात्रों के माता-पिता को आश्वस्त करने के लिए हूं कि आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा।