पैंट गीली होने वाले बयान पर चंडीगढ़ के डीएसपी ने कांग्रेस चीफ को दिया मानहानि का नोटिस

पंजाब। एक रैली को संबोधित करने के दौरान पुलिस को लेकर किए गए आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिद्धू विवादों में फंसते नजर आ रहे हैं। वीडियो जारी कर नवजोत सिद्धू के बयान की आलोचना करने के बाद चंडीगढ़ पुलिस के डीएसपी दिलशेर सिंह चंदेल ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ मानहानि का नोटिस दिया है।

नोटिस के माध्यम से डीएसपी दिलशेर सिंह चंदेल ने पुलिस बल के सम्मान को नुकसान पहुंचाने के लिए लिखित और प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक एवं सोशल मीडिया के माध्यम से बिना शर्त सार्वजनिक माफी की मांग की है। नोटिस में यह भी लिखा गया है कि इस कारण से पैसे का कोई मुआवजा नहीं मांगा गया है क्योंकि पंजाब पुलिस बल के कठिन कर्तव्यों और सर्वोच्च बलिदान को ध्यान में रखते हुए उनके प्रतिष्ठा को मौद्रिक शब्दों में व्यक्त नहीं किया जा सकता है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों 18 दिसंबर को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू सुल्तानपुर लोधी से विधायक नवतेज चीमा के समर्थन में जनसभा करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं की हौसलाअफजाई करते हुए पंजाब पुलिस को लेकर विवादित बयान दे दिया। सिद्धू ने जनसभा में कहा कि अगर ये विधायक थानेदार पर चिल्ला दे तो उसकी पैंट गीली हो जाती है।

सिद्धू के बयान का वीडियो वायरल होने के बाद डीएसपी दिलशेर सिंह चंदेल ने उनके बयान की आलोचना की थी। दिलशेर चंदेल ने एक वीडियो जारी की थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि यह बड़ी शर्मनाक बात है कि एक सीनियर लीडर अपने ही फ़ोर्स के बारे में इस तरह के शब्द का प्रयोग कर रहे हैं और उनको बेइज्जत कर रहे हैं। यही फोर्स उनकी और उनके परिवार की सुरक्षा करती है। अगर यही बात है तो वे अपने फ़ोर्स वापस कर अकेले घूमें। वे 10 से 20 पुलिसकर्मियों को साथ लेकर घूमते हैं। पुलिस के बिना एक रिक्शा चालक भी इनका कहा नहीं मानता है।

बता दें कि डीएसपी दिलशेर सिंह चंदेल 1989 में चंडीगढ़ पुलिस में सहायक उप-निरीक्षक के रूप में शामिल हुए थे। चंदेल चंडीगढ़ पुलिस के भारतीय रिजर्व बटालियन (आईआरबी) से जुड़े हुए हैं।