उपजाऊ भूमि व किसानों पर सीमेंट-कारखानों का कहर, हम आन्दोलन करेंगे : रंजन राना

अलीगढ़। कासिमपुर-हरदुआगंज रोड पर आज से पांच-सात वर्ष पूर्व अल्ट्रा टैक सीमेंट फैक्ट्री की स्थापना हुई थी और आज अलीगढ़ विकास प्राधिकरण एक नई जे.के.सीमेंट कम्पनी की फैक्ट्री स्थापना की तैयारियों में व्यस्त है,जिसमें किसानों की 15-हेक्ट. (लगभग-200 बीघा) उपजाऊ कृषि भूमि का चरित्र बदलने की कयावत शासन स्तर पर करा रहा है और 15–दिनों की समयावधि दी है कि दावा व आपत्ति दर्ज करायें।
इसी परिप्रेक्ष्य मेँ पर्यावरण एवं पर्यटन विकास समिति के सचिव व भू-जल सेना के जिला कौर्डिनेटर रंजन राना ने वास्तविकता जानने के उद्देश्य से स्थानीय स्तर पर पहुंच कर समीक्षा-अभियान की शुरुआत की। पहले ही दिन स्थानीय लोगों ने अपनी बदहाली व्यक्त करते हुए कहा कि हमसे झूठे वादे किये गए थे कि फैक्ट्री में युवाओं को रोजगार गारंटी से मिलेगा, सडकें बनेंगी, स्कूल व अस्पताल खुलेंगे,,,, परन्तु सभी वादे झूठे निकले और हम स्वयं को छला प्रतीत कर रहे हैं।

पर्यावरण कार्यकर्ता रंजन राना ने कहा कि सरकार व उनके अधिकारी पूँजीपतियों को लाभ देने की नीयत से किसानों को उनकी कृषि भूमि अधिग्रहण कर बर्बाद करने में लगे हैं लेकिन अब ए.डी.ए. की मनमानी नहीं चलने दी जाएगी, हम आन्दोलन करेंगे और मांग करेंगे कि अब कोई भी नयी फैक्ट्री बंजर भूमि पर ही लगे और अलीगढ़ के युवाओं का 80% रोजगार गारंटी हो।