योगी सरकार की बड़ी कार्यवाही, मुख्तार अंसारी के गजल होटल पर चला बुलडोजर

गाजीपुर | विधायक मुख्‍तार अंसारी की पत्नी और बेटों के होटल गजल पर रविवार सुबह प्रशासन के बुलडोजर गरजे। लंबी कानूनी लड़ाई के बाद आखिरकार गजल होटल ढहा दिया गया। सुबह सात बजे एसपी सिटी और एडीएम के नेतृत्व में भारी संख्या में पुलिस फोर्स की मौजूदगी में ध्वस्तीकरण शुरू हुआ। रातभर गजल होटल के बाहर दुकानों को खाली करने का काम चलता रहा। कार्रवाई के दौरान महुआबाग और मिश्र बाजार को बैरीकेडिंग करते हुए वाहनों के आवागमन पर रोक लगा दी गई है। होटल का ध्वस्तीकरण देखने के लिए सैकड़ाें लोगों की भीड़ जुटी रही।

शहर के महुआबाग में स्थित मुख्तार अंसारी के होटल गजल पर रविवार सुबह को प्रशासन ने कार्रवाई शुरू की। जिलाधिकारी के अध्यक्षता में नियंत्रक प्राधिकारी बोर्ड विनियमित क्षेत्र गाजीपुर ने शनिवार की शाम गजल होटल के मालिक अब्बास अंसारी व उमर अंसारी पुत्रगण मुख्तार अंसारी की अपील खारिज कर दी थी। 15 पेज के फैसले में एसडीएम सदर/विनियमित क्षेत्र अधिकारी के ध्वस्तीकरण के फैसले को सही मानते हुए अग्रिम कार्रवाई का आदेश दिया है। बोर्ड के आदेश को देर रात होटल पर तहसीलदार ने चस्पा किया और सीओ सदर के नेतृत्व में फोर्स ने दुकानों को आनन-फानन खाली करा दिया गया। इसके बाद सुबह से पुलिस और प्रशासन ने चिह्नित किए गए भवन को ढहाना शुरू कर दिया।

होटल पर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई देखने के लिए सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट गई, जिन्हें पुलिस ने मशक्कत के बाद हटाया। एडीएम राजेश सिंह, एडीएम सुशील कुमार श्रीवास्‍तव, एसडीएम सदर प्रभाष कुमार, एसडीएम सेवराई रमेश मौर्या, एसपी सिटी गोपीनाथ सोनी, सीओ सिटी ओजस्‍वी चावला, शहर कोतवाल विमल मिश्रा समेत देर रात से ही कई थानों की फोर्स लगा रहा। महुआबाग व मिश्रबाजार को चारो तरफ से सील कर रखा था किसी को भी जाने की अनुमति नही है।

बता दें कि बीते 25 जून को सदर एसडीएम प्रभास कुमार ने गजल होटल के जमीन की पैमाइश कराई थी। इसमें तमाम अनियमितता मिली थी। होटल के नक्शे को भी एसडीएम ने निरस्त कर दिया है। वहीं होटल की जमीन की जांच में उसके खरीद व बिक्री में तमाम अनियमितता मिली थी। गजल होटल के अवैध निर्माण और रजिस्ट्री में फर्जीवाड़े पर मुख्तार की पत्नी और दोनों बेटों सहित 12 के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया जा चुका है।