बुलंदशहर : यूपी बोर्ड में नकल कराने वाले केन्द्र व्यवस्थापक व अधिकारी नपेंगे- डीएम डॉ रोशन

शुभम अग्रवाल/ बुलंदशहर | यूपी बोर्ड परीक्षा नकल विहीन सम्पन्न कराने को जिला प्रशासन ने कमर कसी है। परीक्षा मे नकल होती पाये जाने पर कक्ष निरीक्षक केन्द्र व्यवस्थापक को सीधे तौर पर दोषही माना जायेगा उसके विरूद्ध एफआईआर दर्ज करा कड़ी कार्रवाईकी जायेगी। रविवार को जिला पंचायत सभागार मे आयोजित बैठक मे जिलाधिकारी डा.रोशन जैकब ने परीक्षा केन्द्र व्यवस्थापक, सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं स्टेटिक मजिस्ट्रेट को कडाई से समझा जनपद मे परीक्षा नकल विहीन कराये जाने की ताकीद की है। डीएम ने चेतावनी दी है कि जानबूझकर परीक्षा मे किसी प्रकार की त्रुटि की जाती है तो संबंधित के विरूद्ध तत्काल रिपोर्ट दर्ज करा कार्रवाई सुनिश्चित की जायेगी। उन्होने परीक्षा केन्द्र पर सभी आवश्यक सुविधा परीक्षा र्थियो को उपलब्ध कराने तथा केन्द्र पर अन्य विद्यालयो के छात्रो से किसी प्रकार का भेदभाव न करने परीक्षा के समय कक्षो मे चैकिंग के नाम पर छात्रो की परीक्षा मे कोई व्यवधान उत्पन्न न करने एवं जिस विषय की परीक्षा है उस विषय के कक्ष निरीक्षक की ड्यूटी न लगाने के कडे निर्देश डीआईओएस को दिये है। इसके अलावा कलेक्ट्रेट मे भी एक नियंत्रण कक्ष स्थापित करने के आदेश जारी किये है।

डीएम ने बैठक मे मौजूद केन्द्र व्यवस्थापकों एवं अधिकारियो को आश्वस्त किया कि सभी परीक्षा केन्द्रों पर पर्याप्त संख्या मे सशस्त्र पुलिस उपलब्ध रहेगी किसी प्रकार की समस्या होने पर पुलिस की सहायता ली जा सकती है। डीएम ने बताया कि परीक्षा के समय सेक्टर मजिस्ट्रेट जिनके पास पांच परीक्षा केन्द्र है निरन्तर भ्रमण पर रहेगे। सेक्टर मजिस्ट्रेट आवंटित परीक्षा केन्द्रो का स्वयं निरीक्षण करेगे अपने स्थान पर यदि किसी प्रतिनिधि से निरीक्षण कराया पाये गया तो उनके विरूद्ध भी कार्रवाई की जायेगी। प्रश्न पत्र की गोपनीयता रखी जायेगी। केन्द्रो पर कक्ष निरीक्षक एवं अन्य लोगों के पास मोबाईल फोन नहीं होगा केन्द्र व्यवस्थापक कक्ष मे फोन की सुविधा उपलब्ध रहेगी जो किसी भी स्थिति की सूचना अधिकारियो एवं नियंत्रण कक्ष को दी जा सकेगी। बैठक का संचालन करते हुए डीआईओएस मनोज कुमार आर्य ने बताया कि परीक्षा केन्द्रो की संख्या 99 है, बोर्ड परीक्षा 2018 में 48 हजार हाईस्कूल एवं 36388 इण्टरमीडिएट कुल 84388 छात्र,छात्राये परीक्षा मे शामिल होगे।

औचक निरीक्षण को 7 सचल दलो का गठन किया गया है 21 सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं 32 स्टेटिक मस्ट्रिेट की नियुक्ति की गई है। उत्तर पुस्तिका जमा करने के लिए एक मुख्य संकलन केन्द्र तथा 6 उप संकलन केन्द्र बनाये गये है 11 परीक्षा केन्द्र संवेदनशील मे चिंहित किये गये है। अति संवेदनशील 4 परीक्षा केन्द्र चिंहित किये गये है। परीक्षा 6 फरवरी से प्रारम्भ हो 10 मार्च को समाप्त होगी। परीक्षा केन्द्रों की निगहबानी को सीसीटीवी कैमरा लगाये जा रहे है। 99 परीक्षा केन्द्रो पर 4500 कक्ष निरीक्षक की तैनाती की गई है। इस मौके पर बीएसए अजीत कुमार,केन्द्र व्यवस्थापक, सेक्टर मजिस्ट्रेट के रूप में एसडीएम, तहसीलदार तथा स्टेटिक मजिस्ट्रेट उपस्थित रहे।