बुलंदशहर : टीचर बोला-‘लड़कियां पढ़ाई के लिए नहीं होतीं वो बच्चे पैदा करने की मशीन होती’ पढ़िए पूरा मामला

बुलंदशहर। छात्राओं की मानें तो टीचर क्लास में पढ़ाते कम हैं परेशान ज्यादा करते हैं। छात्राओं ने शनिवार को कॉलेज प्रशासन के ख‍िलाफ जमकर प्रदर्शन किया। यहां पॉलिटेक्न‍िक की छात्राओं ने टीचर पर छेड़छाड़ और अश्लीलता का आरोप लगाया है। टीचर ने कहा- मुझे शारीरिक संबंधों के बारे में भी बताना होता है क्या गलत किया मामला बुलंदशहर जिले के जहांगीराबाद इलाके के जनता पॉलिटेक्निक कॉलेज का हैं। यहां की छात्राओं ने एनाटॉमी (हेल्थ एजुकेशन) पढ़ाने वाले टीचर पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा- टीचर पढ़ाते-पढ़ाते अश्लील बातें करने लगते हैं।

एक दिन कॉलेज में लाइट नहीं आ रही थी। क्लास रूम के दरवाजे भी बंद थे। जब टीचर से कहा कि गर्मी लग रही है क्लासरूम का दरवाजा खोल दें। इस पर टीचर ने कहा- अगर गर्मी लग रही है तो कपड़े उतारकर क्लास में बैठो। यही नहीं उन्होंने कहा- लड़कियां पढ़ाई करने के लिए नहीं होतीं। वो तो बच्चे पैदा करने की मशीन होती हैं। जब इस बात का विरोध किया तो उन्होंने एग्जाम में फेल करने की धमकी दी। वहीं आरोपी टीचर का कहना है- मेरा सब्जेक्ट एनाटॉमी (हेल्थ एजुकेशन) का है जिसमें शरीर के बारे में जानकारी देनी होती है। शारीरिक संबंधों के बारे में भी बताना होता है। मेड‍िकल का सब्जेक्ट है अगर बच्चों को पढ़ाएंगे नहीं तो वो क्या सीखेंगे। क्या गलत किया। मेरे ऊपर लगाए गए आरोप गलत हैं।

क्या हुआ एक्शन-

जनता पॉलिटेक्निक कॉलेज के प्रिंसिपल तरुण दत्त शर्मा ने बताया कि छात्राओं द्वारा लगाए आरोपों की जांच के लिए कमेटी गठित कर दी गई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपी टीचर को शिक्षण कार्य से मुक्त कर दिया गया है। वे न तो स्टूडेंट्स का कोई पेपर लेंगे और न ही एग्जामिनेश संबंधी काम करेंगे। जांच कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।