जूतों पर ‘ठाकुर’ लिखा होने पर बुलंदशहर पुलिस ने दुकानदार किया गिरफ्तार, फिर हुआ ये-

बुलंदशहर । उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में जूतों पर लिखे जाति सूचक शब्द के कारण बवाल मचा हुआ है। जूते के सोल पर ‘ठाकुर’ शब्द का इस्तेमाल किया गया था। इसके बाद से दुकानदार और स्थानीय लोगों के बीच नोकझोंक हो गई। दरअसल, जब एक युवक दुकान से जूता खरीदने गया तो उसने जूते के सोल पर जातिसूचक शब्द ‘ठाकुर’ लिखा पाया जिसके बाद वह आग बबूला हो गया। युवक का नाम विशाल चौहान है। माना जा रहा है कि विशाल चौहान बजरंग दल का कार्यकर्ता भी है। वह बुलंदशहर के गुलावठी कस्बे से जूते खरीदने गया था।

विशाल चौहान ने इसके बाद जूते बेचने वाले दुकानदार और कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। विशाल चौहान ने दुकान संचालक नासिर और फैक्ट्री मालिक का नाम पता अज्ञात के खिलाफ धारा 153 ए, 323, 504 के तहत यह मुकदमा दायर करवाया है। दूसरी ओर दुकानदार संचालक नासिर का कहना है कि वह जूते दिल्ली से खरीदकर लाता है और यहां अपनी दुकान में बेचता है। इसके अलावा उसे इन जूतों के बारे में कुछ भी पता नहीं है। पुलिस फिलहाल आरोपी दुकानदार को गिरफ्तार कर चुकी है। यह जानने की कोशिश कर रही है कि आखिर यह जूता किस फैक्ट्री में बना था और इस पर जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल क्यों किया गया था ?

इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में खरीदार और दुकानदार के बीच तीखी बहस हो रही है। पुलिस का यह भी कहना है कि जल्द ही इस मामले में जांच तेज की जाएगी। पुलिस ने एक ट्वीट के जरिए कहा कि इस प्रकरण में वर्तमान विधि व्यवस्था के अनुसार जो सुसंगत था, वह कार्यवाही की गई है। यदि पुलिस कार्यवाही ना करती तो बहुत से लोग उल्टी और भिन्न प्रतिक्रिया देते। अतः पुलिस ने नियम का पालन किया है। कृपया इसे इसी रूप में देखें। आपको बता दें कि फिलहाल यूपी की योगी सरकार गाड़ियों पर भी जाति सूचक शब्द लिखे जाने वालों पर कठोर कार्यवाही कर रही है।