बुलंदशहर उपचुनाव : BJP-BSP में मुख्य मुकाबला, चंद्रशेखर की पार्टी बिगाड़ सकती है मायावती का गणित

बुलंदशहर | बुलंदशहर में उपचुनाव के बाद सियासी चर्चाओं का दौर जारी है | पूर्व मंत्री व भाजपा नेता वीरेंद्र सिंह सिरोही के निधन से रिक्त बुलंदशहर सीट पर मतदान में भाजपा से बसपा का मुख्य हुआ ।

सपा समर्थित रालोद उम्मीदवार प्रवीण सिंह के लिए बसपा के मुस्लिम प्रत्याशी हाजी युनूस बड़ी मुसीबत बन गए। इस सीट पर पश्चिम में अनुसूचित जाति के लोगों के बीच तेजी से जगह बना रहे भीम आर्मी की पार्टी आजाद समाज पार्टी (एएसपी) के मुस्लिम उम्मीदवार हाजी यामीन और ओवैसी की पार्टी के उम्मीदवार दिलशाद की मुस्लिमों में सेंधमारी भी सपा की उम्मीदों के लिए बाधाएं खड़ी करते दिखी।

चुनाव में मतदाताओं का रुझान देखकर साफ लग गया कि चंद्रशेखर की पार्टी का उम्मीदवार न होता तो इस सीट पर बसपा के उम्मीदवार हाजी यूनुस की बड़ी जीत की उम्मीदें आसानी से परवान चढ़ सकती थीं। लेकिन एएसपी के यामीन ने और भाजपा के पक्ष में सहानुभूति की हवा ने यहां कमल की कठिनाइयां कम कर दी। कांग्रेस ने इस सीट पर  सुशील चौधरी को उम्मीदवार बनाया है ।

परिणाम आने तक जिले में चर्चाओं का दौर शुरू है | प्रत्येक दल के नेता अपने अपने हिसाब से हार-जीत का गणित लगा रहे हैं |