बुलंदशहर बार के अध्यक्ष बने सुमन राघव, बोले- वकीलों के सम्मान की लड़ाई पहली प्राथमिकता

बुलंदशहर | प्रदेश के अधिवक्ताओं की सियासत में अपना अहम स्थान रखने वाले दिग्गज अधिवक्ता सुमन राघव एडवोकेट की लहर ने  इस बार बुलंदशहर बार एसोसिएशन के चुनाव में विपक्षियों का सफाया कर दिया है | अध्यक्ष पद पर सुमन राघव ने अब तक की एतिहासिक जीत दर्ज की है | मंगलवार को डिस्ट्रिक्ट बार एसो के अध्यक्ष और महासचिव के पद के लिए हुए चुनाव में  977 वोटो में से 931 अधिवक्ताओं ने वोट डाला | देर शाम हुई गिनती में सुमन राघव एड को 403 वोट मिले | जबकि अध्यक्ष पद के लिए लड़ रहे चौ दिनेश कुमार सिंह को 161, गिरीशचन्द्र पाठक को 136 और राजेंद्र शर्मा को 185 वोट मिले | सुमन राघव की एतिहासिक जीत की घोषणा होते ही अधिवक्ताओं में ख़ुशी दौड़ गयी | वहीँ महासचिव पद पर सुमन खेमे के ही कौशलेन्द्र सिंह ने जीत दर्ज की | सैंकड़ो अधिवक्ताओं ने सुमन राघव को फूल मालाओं  से लाद दिया | इस दौरान चुनाव से पहले लम्बी लम्बी हांकने वाले विपक्षियो के समर्थक हार देख चुपचाप खिसक लिए |

जीत के बाद बुलंदशहर बार एसो के अध्यक्ष सुमन राघव एड ने कहा कि अधिवक्ताओं का कल्याण और उनके हित की लड़ाई लड़ना पहली प्राथमिकता है | वकीलों के मान सम्मान की लड़ाई और बार के मान सम्मान बरक़रार रखना उनका उद्देश्य है | उन्होंने कहा कि बुलंदशहर के अधिवक्ताओं के कल्याण के लिए विभन्न स्तरों पर आवाज़ उठाएंगे | उन्होंने यह भी कहा कि पश्चिम यूपी में हाईकोर्ट बेंच की लड़ाई में बुलंदशहर संघर्ष समिति के साथ है |

 

बताते चले कि सुमन राघव एड को प्रदेश के  अधिवक्ताओं की राजनीति के साथ साथ सामाजिक रूप से भी ख्याति प्राप्त है | सुमन राघव को संघर्षशील समाजवादी नेता के रूप में भी जाना जाता है | उनके अध्यक्ष बनने के बाद अब जिले में वकीलों के सम्मान को भी बल मिला है |