लोकतंत्र और संविधान बचाने के लिए SP-BSP की अंधभक्ति छोड़े मुसलमान, BJP से लड़ रहे सिर्फ राहुल-प्रियंका : डॉ मसूद

अलीगढ़ । यूपी के पूर्व कैबिनेट शिक्षा मंत्री, RLD के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ मसूद अहमद शनिवार को अलीगढ़ पहुंचे और अपने समर्थकों से देश के वर्तमान हालात पर सियासी संवाद किया। अनूपशहर रोड स्थित एक निजी लॉज में मीडिया से वार्ता कर डॉक्टर मसूद अहमद ने गत विधानसभा चुनाव में मुस्लिम समाज द्वारा अंधभक्ति से सपा को वोट देने को सियासी नासमझी बताया । डॉ मसूद अहमद ने कहा कि सपा-बसपा भाजपा की बी टीम हैं और रालोद भी अब चौधरी चरण सिंह के मार्ग से भटक गया है । उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज और दलित समाज को सपा-बसपा की अंधभक्ति छोड़ देशहित में सोचना चाहिए । उन्होंने कहा कि लोकतंत्र कराह रहा है और संविधान पर संकट है, जिसको बचाना प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी है । उन्होंने कहा कि देश मे महंगाई, बेरोजगारी, गरीबी चरम पर है लेकिन भाजपा और मोदी सरकार चंद दोस्तों को फायदा पहुंचाने में लगी हुई हैं ।

पूर्व मंत्री डॉ मसूद अहमद ने कहा कि अखिलेश यादव, मायावती और जयंत चौधरी सहित देश के तमाम छोटे दल भाजपा से भयभीत हैं और जनता की लड़ाई नहीं लड़ रहे। उन्होंने कहा कि मैं गैरराजनैतिक हूँ लेकिन एक बात ईमानदारी से कहूंगा कि भाजपा से सिर्फ राहुल गांधी और प्रियंका गांधी लड़ रहे हैं । उन्होंने कहा कि देश बचाने, लोकतंत्र बचाने और संविधान बचाने के लिए राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ देश के प्रत्येक नागरिक को दलीय और जातीय राजनीति छोड़ खड़ा होना चाहिए । उन्होंने कहा कि लोकतंत्र और संविधान बचेगा तो देश बचेगा, पार्टियां बचेंगी । डॉ मसूद ने कहा कि अल्पसंख्यक समाज को अखिलेश-मायावती की गुलामी छोड़ सियासी जागरूकता अपनानी चाहिए और राष्ट्रीय स्तर पर सोचना चाहिए ।

डॉ मसूद के साथ कांग्रेस के पूर्व विधायक प्रत्याशी जियाउर्रहमान, जावेद खान, युवा नेता राजा भैया, डॉ बाबू अली, शारिक, कुमैल कादरी, केपी सिंह आदि मौजूद रहे ।