RLD से मुस्लिम नेताओं का मोहभंग, डॉ मसूद के बाद अब राजा भैया, बाबू अली का इस्तीफा, आरोप- ‘BJP के हाथों में है पार्टी’

अलीगढ । राष्ट्रीय लोकदल के युवा प्रदेश महासचिव राजा भैया ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। राजा भैया ने हाल ही बने प्रदेश अध्यक्ष रामाशीष राय को बीजेपी एजेंट बताया है और कहा कि रामाशीष राय बीजेपी के पुराने दिग्गज नेता रहे हैं वो मोदी फॉर पीएम अभियान का हिस्सा रहे हैं, उन्हें बीजेपी ने एक बड़े प्लान के लिए आरएलडी में भेजा है। उन्होंने कहा कि अब उत्तर प्रदेश में रालोद बीजेपी के हाथों में जा चुकी है।

राजा भईया ने कहा कि मुसलमानों ने आरएलडी को शत प्रतिशत वोट किया लेकिन मुसलमानों पर हो रहे अत्याचारों पर पार्टी कोई भी बयान जारी नही करती है। राजा ने आरोप लगाया कि विधानसभा चुनाव से अब तक मिलने का समय नही दिया, पार्टी को कार्यालय के चार लोग चला रहे हैं, पार्टी में वही होता है जो कार्यालय के चंद दलाल चाहते हैं।

राजा के कहा कि रालोद स्व. चरण सिंह और अजीत सिंह के सिद्धांतों से भटक चुकी है। गरीब, किसान, मजदूर, नौजवान, दलित, मुस्लिम,की लड़ाई लड़ता रहूंगा। वहीं, विधि प्रकोष्ठ के यूपी चेयरमैन अंकुर सक्सेना, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ब्रज क्षेत्र के अध्यक्ष डॉ बाबू अली ने भी रालोद से इस्तीफा दे दिया है । सोमवार को कई और नेता इस्तीफ़ा देंगे ऐसी खबरें हैं ।।