अलीगढ़ में जहरीली शराब का तांडव : 50 हजार का ईनामी माफिया विपिन यादव गिरफ्तार, फैक्ट्री का भंडाफोड़

अलीगढ़ । जहरीली शराब के तांडव से अलीगढ़ देश और प्रदेश की चर्चाओं में हैं । अलीगढ़ में जहरीली शराब बेचकर मौत का तांडव मचाने वाला 50 हजारी नकली शराब सरगना विपिन उर्फ ओमवीर यादव, निवासी मैनपुरी को एक अन्य साथी संग पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि उसके कई साथी फरार हैं । साथ ही उसके उस ठिकाने को भी बेपर्दा कर दिया है जहां यह शराब बनाई जा रही थी। 15 फीट ऊंचाई की बाउंड्रीवाल में कैद यह शराब फैक्टरी अकराबाद क्षेत्र के पनैठी से सटे गांव अधौन के खेतों में चल रही थी। विपिन की गिरफ्तारी के बाद देर रात एक टीम अधौन स्थित फैक्टरी पहुंच गई थी, जहा भारी मात्रा में माल बरामद किया गया था, जबकि दूसरी टीम तालानगरी की एक स्याही-सैनीटाइजर फैक्टरी में थी। वहां भी चेकिंग की जा रही थी ।

27-28 मई की रात से शुरू हुए घटनाक्रम में विपिन यादव मूल निवासी मैनपुरी हाल निवासी सहार देहली रेजीडेंसी क्वार्सी का नाम 28 मई की दोपहर स्थानीय शराब तस्कर सरगना रालोद नेता अनिल चौधरी की गिरफ्तारी के बाद ही उजागर हो गया था। खुद अनिल ने स्वीकारा था कि विपिन उन्हें यह जहरीली शराब सस्ते दामों में बेचता था और हम लोग उसे ठेकों के जरिये पब्लिक को बेचते थे। उसके बाद से विपिन और दूसरे स्थानीय तस्कर भाजपा नेता ऋषि शर्मा पर 50-50 हजार का इनाम घोषित किया गया। दोनों की तलाश के प्रयास जारी थे। इसी बीच रविवार देर शाम पुलिस टीम ने विपिन को दबोच लिया। उसने पूछताछ में स्वीकारा कि यह फैक्टरी हाथरस का एक व्यक्ति और सिंधौली का नवनिर्वाचित प्रधान गंगाराम मिलकर चलाते थे। इस पर पुलिस ने गंगाराम को भी दबोच लिया ।