जिला पंचायत चुनाव : अलीगढ में भाजपा को सपा से मिलेगी कड़ी टक्कर, अर्चना यादव होंगी अध्यक्ष की उम्मीदवार, ये नेता जीते हैं चुनाव-

अलीगढ | अलीगढ में भाजपा की मुश्किलें बढ़ गयी हैं | सपा से भाजपा को कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद है | हालाँकि सपा ने अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन वह बहुमत का आंकड़ा से कहीं दूर है। सपा ने इस बार सात सीटों पर दर्ज की है। जिसमें जिला पंचायत अध्यक्ष पद की दावेदार अर्चना यादव सहित छह विजयी प्रत्याशी हैं। अर्चना यादव बदायूं के पूर्व सपा सांसद धमेंद्र यादव की बहन है। सपा नेताओं ने निर्दलीय और रालोद के सदस्यों को घेरना शुरू कर दिया है | सूत्र कहते हैं कि भाजपा से ठाकुर विजय सिंह अध्यक्ष पद की दावेदार हो सकती हैं | वह कल्याण सिंह की रिश्तेदार हैं | ऐसे में मुलायम और कल्याण सिंह परिवार की प्रतिष्ठा दांव पर होगी |

सपा जिलाध्यक्ष गिरीश यादव ने बताया कि वार्ड नंबर 43 से जिला पंचायत अध्यक्ष पद की दावेदार अर्चना यादव चुनाव जीत गई हैं। इसके साथ ही पार्टी के सात सदस्य चुनाव जीते हैं। जिसमें वार्ड नंबर-5 से सोमेश चौधरी, वार्ड नंबर-27 से जितेंद्र सिंह, वार्ड नंबर-36 से सुमन देवी, वार्ड नंबर-40 से संजू दिवाकर, वार्ड नंबर 41 से विजेंद्र सिंह, राखी यादव, वार्ड नंबर-45 से बबलू होलकर शामिल हैं। वहीं सपा से टिकट नहीं मिलने पर बागी हुए तीन नेता चुनाव जीते हैं। जिसमें वार्ड नंबर एक से विजेंद्र कुमार, वार्ड नंबर चार से मुकेश यादव, वार्ड नंबर 42 से अर्जुन सिंह शामिल हैं। हालांकि पार्टी के नेता इनको अब बागी नहीं कह रहे हैं।

जिला प्रवक्ता रत्नाकर पांडेय ने बताया कि चुनाव में कुछ मतभेद होने से कुछ भाई निर्दलीय मैदान में उतर गए थे। वो भी जीते हैं। वो सभी पार्टी की प्रत्याशी के साथ हैं। पार्टी पूरी मजबूती के साथ जिला पंचायत अध्यक्ष पद की दावेदारी करेगी। बाकी कई निर्दलीय भी सपा की ओर मुड़ रहे हैं।