मथुरा में पुलिसकर्मियों को BJP-RSS कार्यकर्ताओं ने जमकर कूटा, महिला नेता ने कोतवाल पर चलाई चप्पल, सत्ता दवाब में पुलिस पर ही कार्यवाही, 2 सस्पेंड, 5 पर FIR

मथुरा | मथुरा से बड़ी खबर सामने आई है | खाकी को आरएसएस और भाजपा के कार्यकर्ताओं और नेताओं ने जमकर कूटा और फिर खाकी पर ही रिपोर्ट दर्ज करा दी | पुलिस की हुई चप्पलों से पिटाई के बावजूद भाजपाइयों ने सत्ता के दम पर पुलिसकर्मियों को निलंबत भी करा दिया | प्रदेशभर में खाकी को पीटने के बावजूद सत्ता की हनक के चलते सत्ताधारियों पर कार्यवाही न होना चर्चा का विषय बना हुआ है | ब्रह्मर्षि देवराह बाबा घाट और जिला अस्पताल पर हुए विवाद में पुलिस को लाठियां भी फटकारनी पड़ीं। इसमें एक प्रचारक के सिर में चोट आई है। पुलिस के खिलाफ तहरीर दे दी गई है। एसएसपी ने देवराह बाबा घाट प्रकरण में एसएसपी ने एसआई पीके उपाध्याय और एक सिपाही अनिल को सस्पेंड और कोतवाल अनुज कुमार को लाइन हाजिर कर दिया है। देर रात पांच पुलिसवालों पर मुकदमा भी दर्ज कर दिया गया है।

विवाद ब्रह्मर्षि देवराह बाबा घाट पर स्नान से शुरू हुआ। यहां सुबह को संघ के जिला प्रचारक मनोज कुमार, कुछ स्वयंसेवकों के साथ स्नान करने पहुंचे। बैरिकेड से आगे जाने पर पुलिसकर्मी ने टोका तो कहासुनी शुरू हो गई। मामला अभद्रता और मारपीट तक पहुंच गया। एसपी (सुरक्षा) एवं नोडल अधिकारी (मेला) रोहित मिश्रा, उपमेलाधिकारी सीएफओ प्रमोद शर्मा, सीओ (सदर) रमेश कुमार तिवारी मौके पर पहुंच गए। लेकिन बात बढ़ती देख वे जिला प्रचारक एवं अन्य कार्यकर्ताओं को कोतवाली ले गए। वहां कुछ देर में आरएसएस एवं भाजपा कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लग गया। कार्यकर्ता आरोपी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी एवं निलंबन की मांग करते हुए नारेबाजी करने लगे। अंत में पुलिस ने जिला प्रचारक की ओर से तहरीर ले ली। इसी बीच कुछ कार्यकर्ता नगर निगम चौराहे पर बैरियर सड़क पर गिराकर जाम लगाने लगे तो पुलिसवालों के टोकने पर वहां भी विवाद हुआ। जैसे-तैसे मामला शांत हुआ।

जिला अस्पताल में फिर विवाद, लाठियां फटकारीं
जिला प्रचारक मनोज कुमार की तहरीर पर पुलिस उन्हें और स्वयंसेवक अनिल को डॉक्टरी के लिए जिला संयुक्त अस्पताल ले गई। यहां भी विवाद ने पीछा नहीं छोड़ा। अस्पताल में डॉक्टर की केबिन में पहुंचे इन लोगों ने मास्क नहीं लगाए थे। इस पर वहां तैनात एक वार्ड बॉय ने मास्क के लिए टोका तो इनके साथ पहुंचे एक कार्यकर्ता ने वार्ड बॉय को तमाचा मार दिया। एसआई राजवीर सिंह उन्हें रोकने बढ़े तो उन्हें भी धक्का मार दिया। सूचना मिलने पर कोतवाली से पुलिस बल के साथ संयुक्त चिकित्सालय पहुंचे इंस्पेक्टर वृंदावन अनुज कुमार ने कार्यकर्ताओं पर लाठियां बरसा दीं। इसमें भाजपा कार्यकर्ता मनीष गौतम लहूलुहान हो गए। दो अन्य कार्यकर्ताओं के अंदरूनी चोट आई हैं। इस पर भाजपा की जिला पंचायत सदस्य सीमा चतुर्वेदी ने इंस्पेक्टर पर चप्पल चला दी।ये देख वहां कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे। समझाने पर भी नहीं माने तो पुलिस ने लाठियां फटकारनी शुरू कर दीं। इसमें स्वयंसेवक मनीष गौतम सिर में लाठी लगने घायल हो गया। कुछ अन्य भी घायल हुए। स्वयंसेवक को घायल देख कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी अस्पताल परिसर में ही धरने पर बैठ गए। महानगर अध्यक्ष विनोद अग्रवाल ने ऐलान किया कि जब तक पूरी कोतवाली निलंबित नहीं होगी धरना जारी रहेगा।

ऐसे शांत हुआ मामला-
काफी देर हंगामे के बाद डीएम नवनीत सिंह चहल एवं एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोरव भी जिला संयुक्त चिकित्सालय पहुंच गए। यहां उन्होंने करीब एक घंटे तक भाजपा के जिलाध्यक्ष मधु शर्मा, महानगर अध्यक्ष विनोद अग्रवाल एवं आरएसएस के विभाग प्रचारक गोविंद, केशव धाम के निदेशक ललित कुमार समेत अन्य पदाधिकारियों के साथ समझौता वार्ता हुई। जिसमें तय किया कि दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। साथ ही वीडियो फुटेज में दोषी पाए जाने वाले लोगों पर भी कार्रवाई की जाएगी। एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया कि कुंभ मेले के समापन पर इस तरह की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। इस मामले की जांच कराई जा रही है। इसमें कुछ पुलिस कर्मी चिह्नित हुए हैं, उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जा रही है। साथ ही वीडियो फुटेज भी खंगाली जा रही हैं। इसमें दोषी पाए जाने वाले लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी।

पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज-
वृंदावन। कुंभ मेला क्षेत्र स्थित ब्रह्म ऋषि देवराह बाबा घाट पर पुलिस और आरएसएस के कार्यकर्ताओं के बीच हुये विवाद में पुलिस ने किया अभियोग पंजीकृत कर लिया है। आरएसएस के जिला प्रचारक मनोज द्वारा थाना वृन्दावन में दी गई थी तहरीर के आधार पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 147, 323, 504, 506, 307 और 308 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। तहरीर के मुताबिक एसआई पी के उपाध्याय (चौकी इंचार्ज वीआईपी, कुम्भ मेला), आरक्षी अमित, होमगार्ड राजेश, अमित और हरेन्द्र के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। आपको बता दें कि ब्रह्मर्षि देवराह बाबा घाट पर पूर्वाह्न करीब 9.30 बजे स्नान करने के दौरान आरएसएस के जिला प्रचारक और पुलिसकर्मियों के बीच विवाद हो गया था। बताया जा रहा है कि कुम्भ मेले में कुछ पुलिसकर्मियों ने जिला प्रचारक एवं अन्य कार्यकर्ता के साथ मारपीट की घटना हुई थी।