इंटर-मैट्रिक परीक्षा फार्म भरने का बिहार बोर्ड ने दोबारा दिया मौका

श्रद्धा कपूर ने खोला सफBihar board Dummy Admit Card: बिहार बोर्ड ने इंटर और मैट्रिक वार्षिक परीक्षा 2020 के लिए उन विद्यार्थियों को दोबारा परीक्षा फार्म भरने का मौका दिया है जिनका रजिस्ट्रेशन हो चुका है। यह मौका 28 से 30 जुलाई के बीच रजिस्ट्रेशन करवाने वाले को मिलेगा।

बिहार बोर्ड के ऐसे छात्र 24 सितंबर से 26 सितंबर तक विलंब शुल्क के साथ परीक्षा फार्म भर सकते हैं। वहीं, विलंब शुल्क तीन अक्टूबर तक दिया जा सकता है। बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि ये छात्र किसी कारणवश परीक्षा फार्म नहीं भर पाए थे। 24 से 26 सितंबर तक भरे गए परीक्षा फार्म के आधार पर डमी एडमिट कार्ड 27 सितंबर को बोर्ड की वेबसाइट इंटर के लिए

बिहार बोर्ड ने मैट्रिक और इंटर 2020 के परीक्षाथियों को त्रुटि सुधार का मौका देने के लिए डमी एडमिट कार्ड जारी किया है। उम्मीदवार मैट्रिक के लिए वेबसाट और वेबसाईट से डमी एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा (सैद्धांतिक) 2020 के प्रत्येक परीक्षा केंद्र के तीन-तीन शिक्षकों या कर्मचारियों को मोबाइल रखने की छूट दी जायेगी। इसके लिए बिहार बोर्ड ने सभी जिला शिक्षा कार्यालय से हर केंद्र के तीन-तीन शिक्षकों या कर्मचारियों के नाम मांगें हैं। हर डीईओ को 30 सितंबर तक सूची उपलब्ध करवा देनी है। बोर्ड की मानें तो परीक्षा के पहले गोपनीय अभिलेख और उत्तरपुस्तिका आदि भेजने में किसी तरह की दिक्कतें न हो, इसके लिए शिक्षकों के नाम मांगें जा रहे हैं। इसके अलावा परीक्षा के समाप्त होने के बाद परीक्षा संबंधित जानकारी प्राप्त करने में कई बार केंद्राधीक्षक का मोबाइल नंबर बंद रहता है। इससे परीक्षा संचालन की जानकारी समय से बोर्ड को उपलब्ध नहीं हो पाती है। इस कारण इस बार हर केंद्र पर केंद्राधीक्षक के अलावा तीन-तीन शिक्षक या कर्मचारी को भी मोबाइल नंबर रखने की छूट दी गयी है।

इस दौरान स्कूल प्रशासन और परीक्षार्थी खुद डमी एडमिट कार्ड की जांच कर पाएंगे। इन एडमिट कार्ड में उम्मीदवार के नाम या फिर पैरेंट्स के नाम में गलती होने पर उसका सुधार किया जाएगा।

Dummy Admit Card में ऑनलाइन त्रुटि संशोधन करने के क्रम में किसी प्रकार की असुविधा होने पर मैट्रिक के लिए हेल्पलाईन नं0-0612-2232074, 2232257, 2232239, तथा इंटरमीडिएट के लिए हेल्पलाईन नं0-0612-2230039, 2235616 पर सम्पर्क कर समस्या का त्वरित समाधान प्राप्त किया जा सकता है। लता का राज, ‘नकारात्मक को खुद पर नहीं होने दिया हावी’