CAA आंदोलन : राजधानी दिल्ली के कई इलाकों में भारी हिंसा, 1 पुलिसकर्मी की मौत, खुफिया तंत्र फेल, तनावपूर्ण माहौल

नई दिल्ली । दिल्ली के जाफराबाद में नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर आज फिर से हिंसा भड़क उठी। सोमवार दोपहर समर्थकों और विरोधियों के बीच हुई झड़प को देखते हुए राजधानी के 10 जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। पुलिस ने बताया कि यह सारी घटनाएं छह से आठ किलोमीटर के क्षेत्र के अंदर हुई हैं। वहीं राजधनी में खुफिया तंत्र विफल नजर आ रहा है ।

गृह सचिव अजय भल्ला ने जानकारी दी है कि अब हालात काबू में हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अब तक एक पुलिसकर्मी के मौत की पुष्टि हुई है। एक हजार से ज्यादा लोगों का इकट्ठा होना इस बात की ओर इशारा करता है कि यह सुनियोजित साजिश थी। आज दोपहर में कई जगह हालात बहुत तनावपूर्ण थे, लेकिन अब स्थिति सामान्य बनी हुई है।

स्थिति पर नजर बनाए रखने के लिए सीनियर अधिकारी मौके पर मौजूद हैं, संवेदनशील जगहों पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।केंद्रीय अर्धसैनिक बल दिल्ली पुलिस को मुहैया करवा दिए गए हैं जो हालात को काबू करने में मदद कर रहे हैं। इससे पहले जाफराबाद में पुलिस और लोगों के बीच झड़प हुई थी। इसमें उपद्रवी सड़क से हटकर गलियों में पहुंच गए, उन्होंने वहां दुकानों के शटर तोड़े और गली-मोहल्लों में कोहराम मचा दिया, यहां लूटपाट की आशंका भी जताई जा रही है।

इसी बीच गृह मंत्रालय ने दिल्ली में हो रही हिंसा पर बयान जारी कर कहा कि दिल्ली के कुछ हिस्सों में हुई हिंसा, अमेरिकी राष्ट्रपति के दौरे के मद्देनजर सुनियोजित होने की आशंका है। दिल्ली पुलिस स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पूरी कोशिश कर रही है और लगातार गृह मंत्रालय के संपर्क में है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर कंट्रोल रूम से ही हालात पर नजर बनाए हुए हैं।