बुलंदशहर से बड़ी खबर : दो क्लीनिक और एक मेडिकल स्टोर स्वास्थ्य विभाग ने किया सील

बुलंदशहर। एसीएमओ ने मंगलवार शाम नगर के दो क्लीनिक और एक मेडिकल स्टोर को सील किया। साथ ही औरंगाबाद में तीन झोलाछाप को नोटिस जारी किया। दो दिन पूर्व जहांगीराबाद में भी बिना पंजीकरण के चल रहे एक मेडिकल स्टोर को सील किया गया था।

जनपद में करीब 500 अस्पताल, नर्सिंग होम, निजी क्लीनिक स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों में दर्ज हैं। इसके अलावा करीब 200 बीयूएमएस, बीएएमएस चिकित्सक आयुष विभाग में दर्ज हैं। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के विपरीत करीब पांच गुना से अधिक झोलाछाप गांव-गांव और गली-मोहल्लों में दुकानें खोले बैठे हैं। यह मरीजों की जान से खुलेआम खिलवाड़ कर रहे हैं। इनके खिलाफ कार्रवाई के लिए विभाग ने अभियान शुरू किया है।

एसीएमओ एवं नोडल अधिकारी डॉ. अश्वनी भंडारी ने बताया कि झोलाछाप के यहां उपचार कराने से लोगों के स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ रहा है। मंगलवार को नगर के काली नदी रोड स्थित सीपी हास्पिटल और नेशनल हास्पिटल का निरीक्षण किया गया। संचालक कोई भी दस्तावेज नहीं दिखा सका। सीपी हास्पिटल का ओटी व आईसीयू और नेशनल हास्पिटल का ओटी, वार्ड व मेडिकल स्टोर सील कर दिया गया है। साथ ही नोटिस जारी कर दस्तावेज दिखाने को कहा है। इसके अलावा औरंगाबाद नगर में झोलाछाप के क्लीनिक का निरीक्षण किया गया। कार्रवाई के डर से अधिकांश झोलाछाप शटर गिराकर भाग खड़े हुए। इस दौरान एक हास्पिटल और दो क्लीनिक संचालकों को नोटिस जारी किया गया है।