मुस्लिमों के लिए बड़ी खबर, रमजान में मस्जिदों नहीं घरों में होगी तरावीह की नमाज़

अलीगढ़ । मुस्लिम समाज रमजान के पवित्र माह का इंतजार कर रहा है लेकिन अब बड़ी खबर सामने आ रही है । माह- ए-रमजान पर भी इसबार कोरोना का असर रहेगा । रमजान के दौरान मस्जिदों में की जाने वाली तरावीह की नमाज पर पाबंदी रहेगी। ऐसे में शहर मुफ्ती मौ. खालिद हमीद की ओर से लोगों से अपील करते हुए घरों में रहकर ही तरावीह की नमाज घरों में अता कर खुदा की इबादत करने को कहा है।

बताते चलें कि देशभर में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है। इस हालत में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि, आगामी दिनों में पड़ने वाले बैशाखी, रमजान जैसे पर्व पर सामूहिक आयोजन नहीं होंगे। सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए लोगों को घरों में ही पर्व मनाना होगा। रमजान का मुबारक चांद 24 अप्रैल को देखे जाने की उम्मीद है। जिसके चलते 25 अप्रैल से माह-ए-रमजान शुरू हो जाएगा। ऐसे में मुस्लिमों को तरावीह की विशेष नमाज को समूह में अदा करना मुश्किल होगा।

शहर मुफ्ती मौहम्मद खालिद हमीद ने बताया कि 24 अप्रैल को चांद देखा जाएगा। उसी दिन से तरावीह की नमाज शुरू होगी। 25 अप्रैल को होगा पहला रोजा होगा। पहली बार ऐसा हो रहा है कि रमजान का महीना ऐसे हालात में आ रहा है। पूरा मुल्क रमजान में लॉकडाउन होगा और लोग मस्जिद में आजादी से नमाज पढ़ने नही जा सकेंगे। कहा कि, हर मुसलमान रोजा जरूर रखे, जो लोग मस्जिद में रहते हैं, सिर्फ वही मस्जिद में रहें। 4-5 लोग से ज़्यादा लोग मस्जिद में नही रहेंगे। वह भी नमाज के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करेंगे।