बुलंदशहर में किसानों का बड़ा प्रदर्शन, कब्जाया कलक्ट्रेट गेट, BKU का लगाया झंडा

बुलंदशहर। भारतीय किसान यूनियन के मंडल अध्यक्ष मांगेराम त्यागी के नेतृत्व में बुधवार को भारी संख्या में किसान कलक्ट्रेट पहुंचे। किसानों को देखकर पुलिसकर्मियों ने मुख्य गेट को बंद कर दिया। इसके बाद भाकियू कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। कलक्ट्रेट गेट पर कब्जा कर लिया और भाकियू का झंडा लगा दिया। कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट में आवागमन बंद कर दिया।

गन्ने का बकाया भुगतान सहित अन्य मांगों को लेकर बुधवार को बड़ी संख्या में भाकियू कार्यकर्ता और किसान नारेबाजी करते हुए कलक्ट्रेट पहुंचे। किसानों को आता देखकर वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने मुख्य गेट को बंद कर दिया। जिसको लेकर कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए। किसानों ने गेट के बाहर धरना दिया। किसान गेट के ऊपर चढ़ गए और भाकियू का झंडा लगा दिया। इसको लेकर पुलिस कर्मियों और किसानों में जमकर नोकझोंक हुई। सूचना मिलने पर एडीएम फाइनेंस मनोज कुमार सिंघल, सिटी मजिस्ट्रेट अभय कुमार मिश्र, सीओ सिटी, नगर कोतवाली प्रभारी सहित अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। अधिकारियों ने ज्ञापन देने को कहा, जिस पर किसानों ने ज्ञापन देने से इंकार कर दिया।

भाकियू एनसीआर मांगेराम त्यागी ने कहा कि यह धरना प्रदर्शन भाकियू हाईकमान के निर्देश पर किया गया है। उन्होंने कहा कि किसानों का शोषण किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने पावर कॉरपोरेशन के अधिकारियों पर किसानों का उत्पीड़न करने का आरोप लगाया। इसके अलावा गांव जनौरा में नहर टूटने से पूरे गांव की फसल बर्बाद हो गई है, जिसका सर्वे कराकर किसानों को मुआवजा दिलाया जाए। मांगेराम त्यागी ने बताया कि केन्द्रीय कार्यालय से प्राप्त चौधरी राकेश टिकैत के निर्देश के बाद धरना समाप्त किया गया। इस मौके पर चौधरी सतपाल सिंह, कैप्टन यशवीर सिंह, गंगा प्रसाद, विपिन चौधरी, अनुज चौधरी, जगदीश प्रधान, रविन्द्र, पन्ना लाल शर्मा आदि शामिल रहे।