पं. बंगाल पुलिस का बड़ा खुलासा, आरएसएस से जुड़े शिक्षक परिवार हत्याकांड का मुख्य आरोपी उत्पल बेहरा गिरफ्तार, हिंदू-मुस्लिम रंग देने की हो रही थी कोशिश

मुर्शिदाबाद । देशभर में छाए आरएसएस से जुड़े शिक्षक और उनकी पत्नी, बेटे की हत्या के मामले में राज्य पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है । सोशल मीडिया पर चल रही सभी अफवाहें खत्म हो गयी हैं । वहीं सोशल मीडिया पर देश के विभिन्न राज्यों में घटना को हिंदू मुस्लिम रंग देने की कोशिश हो रही थी, अब मुख्य आरोपी के गिरफ्तार होने से उनके मंसूबे नाकाम हुए है। पश्चिम बंगाल पुलिस ने मंगलवार को मुर्शिदाबाद में तीन लोगों की हत्या करने वाले मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि उसकी इस हत्याकांड में कथित संलिप्तता है। मुर्शिदाबाद के पुलिस अधीक्षक मुकेश कुमार ने कहा कि आरोपी का नाम उत्पल बेहरा है। जो पेशे से राजमिस्त्री है। आरोपी को पुलिस ने मंगलवार सुबह सागरडिघी के सहापुर क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। मुर्शिदाबाद में रहने वाले 35 साल के अध्यापक, उनकी गर्भवती पत्नी ब्यूटी और आठ साल के बेटे अंगन आठ अक्तूबर को जियागंज में स्थित अपने घर पर मृत मिले थे। घटना को तब अंजाम दिया गया जब दुर्गा पूजा का उत्सव चल रहा था।

पुलिस के अनुसार बेहरा ने पाल को दो बीमा पॉलिसी के लिए पैसे दिए थे। पाल ने पहली पॉलिसी की रसीद दे दी थी लेकिन उन्होंने दूसरी पॉलिसी की रसीद नहीं दी। पिछले कुछ हफ्तों से पाल और बेहरा के बीच इसे लेकर झगड़ा चल रहा था। पाल ने उसकी बेइज्जती भी की थी। जिसके कारण बेहरा ने उसे मारने का फैसला लिया। पुलिस ने कहा, ‘हालांकि पाल ने पहली पॉलिसी के लिए रसीद दी थी लेकिन उसने दूसरी पॉलिसी के लिए उसे रसीद नहीं दी। पाल और बेहरा के बीच पिछले कुछ सप्ताह से इस मामले को लेकर विवाद चल रहा था। पाल ने उसका अपमान भी किया था, जिसके बाद बेहरा ने उसकी हत्या करने का फैसला किया।’

पुलिस का दावा है कि बेहरा ने अपना गुनाह कबूल लिया है। मृतक शिक्षक के आरएसएस से जुड़े होने की वजह से राज्य में इसे लेकर सियासत हो रही थी। मामले को लेकर राज्यपाल ने जहां रिपोर्ट तलब की वहीं राष्ट्रीय महिला आयोग ने पुलिस को पत्र लिखकर शीघ्र और निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने को कहा था। इससे पहले शनिवार को पुलिस ने दो और लोगों को गिरफ्तार किया था। मुख्य आरोपी के अलावा पुलिस अबतक चार लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।