भारत पर हमले के लिए सिख युवाओं को ट्रेंड कर रहा हैं : पाक

नई दिल्ली | गृह मंत्रालय ने बुधवार को एक चौंकाने वाली जानकारी दी है। मंत्रालय ने संसदीय पैनल को बताया कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए सिख युवाओं को ट्रेंड कर रही है। यहां तक कि कनाडा और दूसरी जगह रहने वाले सिख युवाओं को उकसाने के लिए भारत के खिलाफ झूठा प्रचार किया जा रहा है। केंद्रीय गृह सचिव के नेतृत्व में गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने मुरली मनोहर जोशी की अध्यक्षता वाली आकलन कमेटी को बताया कि आतंकी संगठन इंटरनेट और सोशल मीडिया का गलत तरीके से इस्तेमाल कर युवाओं को भड़का रहे हैं। सरकार के लिए यह बड़ी चुनौती बन गई है। संसद में सोमवार को कमेटी की तरफ से पेश की गई रिपोर्ट के मुताबिक, सिख आतंकवाद को बढ़ावा देने की कोशिश की जा रही है। पाक आधारित आतंकी संगठनों के कमांडरों पर आईएसआई का दबाव है कि वे पंजाब में ही नहीं बल्कि भारत के दूसरे हिस्सों में भी अपना आतंक फैलाए।

रिपोर्ट में कहा गया है कि पाक आधारित सिख आतंकी संगठन बेरोजगार युवाओं, मुजरिमों, स्मगलर और जेल गए कैदियों को तैयार कर रहे हैं। कमेटी की रिपोर्ट के अनुसार, इन गतिविधियों पर केंद्र और राज्य की सुरक्षा एजेंसियां नजर रखे हुए हैं और जब भी जरूरत पड़ी वह उनका सामना करने के लिए तैयार हैं। हालांकि, समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि युवाओं को जेहादी बनाने के लिए सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है, जो चिंता का विषय है।