लखनऊ में हनीट्रैप का हैरतअंगेज मामला : खूबसूरत महिलाओं ने डॉक्टर और व्यापारी का बनाया अश्लील वीडियो, फिर खेला ऐसा गेम-

लखनऊ | शहर के डॉक्टर, व्यापारी और कई अन्य को हनीट्रैप में फंसाकर अश्लील वीडियो बनाया, फिर ब्लैकमेल कर लाखों रुपये वसूल लिये। ऐसा करने वाले गिरोह में शामिल दो महिलाओं समेत पांच लोगों को हजरतगंज पुलिस ने सोमवार को सरोजनीनगर इलाके से गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गये दो युवक फर्जी दरोगा-सिपाही बनकर चंगुल में फंसे लोगों को धमकाते थे और एफआईआर कर जेल भेजने की धमकी देते थे। एक पशु चिकित्सक की शिकायत पर डीसीपी मध्य की टीम ने यह कार्रवाई की है। आरोपियों के पास से दरोगा व सिपाही की वर्दी, रुपये और छह मोबाइल फोन बरामद हुये हैं। ये लोग लखनऊ के ही एक दर्जन से अधिक लोगों को अपना शिकार बना चुके हैं।

डीसीपी सोमेन वर्मा के मुताबिक पकड़े गये लोगों में अजीजुल हसन सिद्दकी, पकंज गुप्ता, अतुल सक्सेना और दो महिलायें शामिल हैं। एक पशु चिकित्सक ने पुलिस को सूचना दी कि कुछ लोग उसका अश्लील वीडियो बना लिये हैं और ब्लैक मेल कर काफी रकम वसूल चुके हैं। उसने बताया कि इन लोगों के साथ तीन पुलिस वाले भी शामिल हैं। इन लोगों ने सोमवार को सरोजनीनगर में स्कूटर इण्डिया चौराहे पर बुलाया है।

एडीसीपी चिरंजीव नाथ सिन्हा ने बताया कि पीड़ित को लेकर एक टीम सरोजनीनगर पहुंची। इसी दौरान एक कार आकर रुकी। इसमें दो पुलिस की वर्दी में थे और एक सादे कपड़ों में। पीछे की सीट पर दो महिलायें भी थी। पीड़ित इनके पास गया तो उन लोगों ने रुपये देने को कहा। बस, तभी पुलिस टीम ने इन लोगों को पकड़ लिया। इन लोगों ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया।

ऐसे फंसाते थे शिकार को-
एडीसीपी ने बताया कि ये लोग बड़े व्यापारी, डॉक्टर व बिल्डर को फंसाने की कोशिश करते थे। पहले महिलायें इन लोगों को फोन कर मीठी बातें कर अपने जाल में फंसाती थी। फिर उन्हें तय स्थान पर बुलाकर उनकी अश्लील वीडियो बना लेते थे। इस बीच ही अजीजुल और पकंज पुलिस की वर्दी पहन कर आ जाता थे। ये भी अश्लील वीडियो बनाते और उसे वायरल करने की धमकी देकर रुपये ऐंठ लेते थे। डीसीपी सोमेन वर्मा ने बताया कि महिलाये स्वतंत्र गर्ल्स कालेज और नवयुग से स्नातक है जबकि तीनों अन्य आरोपी लखनऊ विश्विवद्यालय, विद्यान्त कालेज और केवी डिग्री कालेज मिर्जापुर से पढ़े हुए हैं। इनके अपराधिक इतिहास के बारे में पता किया जा रहा है।