बौखलाहट में छात्रों का उत्पीड़न कर रही UP में विफल योगी सरकार : छात्र नेता संदीप

वाराणसी।  सूबे में योगी सरकार के खिलाफ छात्र एकजुट होने लगे हैं । छात्र नेताओं के आंदोलनों पर सख्त रुख अपनाया रही योगी सरकार के खिलाफ छात्रों का गुस्सा फूटने लगा है । लखनऊ के बाद वाराणसी में सपा छात्र सभा के कार्यकर्ताओं को सीएम की बुद्धि शुध्दि के लिए हवन करने पर प्रशासन ने मुकद्दमा दर्ज करा दिया है । जबकि हियुवा सहित तमाम अन्य संगठन भी प्रदर्शन और आंदोलन कर रहे हैं उनके प्रति प्रशासन लेकर रवैय्या अपनाए हुए है । सोमवार को सपा छात्र सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष संदीप सिंह ने पत्रकार वार्ता कर योगी सरकार को आड़े हाथों लिया । कार्यवाही को दमनकारी व तानाशाह योगी सरकार की द्वेषपूर्ण भावना से की गई कार्यवाही बताते हुए  समाजवादी छात्र सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष संदीप सिंह स्वर्णकार, प्रदेश सचिव मनोज यादव गोलू एवं अभिषेक मिश्रा आर.डी. ने संयुक्त रूप से पत्रकरो के सामने अपना पक्ष रखा ।  पत्रकार वार्ता में संदीप सिंह स्वर्णकार ने जिला प्रशासन तथा

प्रदेश की योगी सरकार की कार्यवाही पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि यदि हम छात्रों द्वारा किया गया लोकतांत्रिक प्रदर्शन धारा 144 का उलंघन था तो आखिर कानून की कौन सी किताब के आधार पर जीएसटी के विरोध में पूरे जनपद में तमाम लोगों द्वारा किया गया आंदोलन इस दायरे से बाहर मान लिया गया? क्या उन तमाम विरोध व आंदोलनों की प्रशासन द्वारा अनुमति प्रदान की गई थी? क्या आजम खान का विरोध करने हेतु हिंदू युवा वाहिनी को प्रशासन द्वारा अनुमति प्रदान की गई थी?

संदीप सिंह ने कहा कि अपराधियों पर अंकुश लगाने में पूरी तरह से नाकाम योगी सरकार बौखलाहट में लगातार छात्रों का उत्पीड़न कर रही है निश्चित रुप से इस तरह का पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाते हुए प्रशासन समाजवादियों को झूठे मुकदमों में फंसाकर विरोध के स्वर को कुचलने का कुप्रयास कर रही है। *उन्होंने प्रशासन व योगी सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि हम समाजवादी उनके मुकदमों से डरने वाले नहीं हैं, परंतु यदि उनके द्वारा अपनी इस दमनकारी नीति को नहीं बदला गया इस तरह की पक्षपातपूर्ण कार्यवाहियां नहीं बंद हुई तो सड़कों पर छात्रों नौजवानों का रेला होगा, हम सब बड़े आंदोलन हेतु बाध्य होंगे, योगी और मोदी को बनारस के हर दौरे में काले झंडों का सामना करना पड़ेगा जिसकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

पत्रकार वार्ता में मनोज यादव गोलू व अभिषेक मिश्रा आर.डी. ने भी प्रशासन के द्वेषपूर्ण कार्यवाही का कड़े शब्दों में विरोध करते हुए तत्काल छात्रों पर से इस मुकदमे को वापस लिए जाने की मांग की तथा कहा कि यदि यह मुकदमा वापस नहीं लिया गया तो छात्र बड़े आंदोलन हेतु बाध्य होंगे। पत्रकार वार्ता में मुख्य रूप से प्रदेश उपाध्यक्ष संदीप सिंह स्वर्णकार के साथ प्रदेश सचिव मनोज यादव गोलू, अभिषेक मिश्रा आर.डी. व शुभम यादव  आदि लोग उपस्थित रहे।