बरेली में योगी की हिन्दू वाहिनी के कार्यकर्ताओं पर गैंगरेप का आरोप

लखनऊ |  उत्तर प्रदेश के बरेली शहर में सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की हिन्दू युवा वाहिनी के चार कार्यकर्ताओं पर गैंगरेप का आरोप लगा है। एक तरफ तो मुख्यमंत्री प्रदेश की महिलाओं को मनचलों से सुरक्षित रखने के लिए एंटी रोमियो स्क्वॉड का गठन करती है वहीं दूसरी ओर उसी की वाहिनी के लोगों पर महिलाओं की इज्जत तार-तार करने का आरोप लग रहा है। इसी मामले को लेकर पत्रकार राणा अय्यूब ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक पोस्ट कर गैंगरेप आरोपियों को एंटी रोमियो स्क्वॉड का वालंटियर बता दिया। हिंदू युवा वाहिनी से जुड़ा होने के कारण यह मामला तूल पकड़ता जा रहा है।

राणा अय्यूब के इस ट्वीट के बाद लोग उनकी कड़ी आलोचना कर रहे हैं। एक ट्विटर यूजर ने लिखा आप उन लोगों को क्या कहना चाहोगी जिन्होंने कश्मीर में डीसीपी मो. अयूब पंडित की हत्या कर दी। वे हत्यारे आपके अमनपसंद इस्लामिक भाई होंगे। एक ने लिखा कि पहले तो यह बताओ कि तुम्हें नफपत किस्से है, हिन्दुओं से या अपराधियों से.. अरे मुद्दे के साथ रहा करो न कि जात-पात के। एक ने लिखा कि अगली बार जब कोई मुस्लिम यह काम करे तो उन्हें आतंकवादी बुलाना। फिर यहीं तर्क उस समय भी हिंदू और मुस्लिम के लिए इस्तेमाल करना। एक ने लिखा साफ दिखाई देता है कि धीर-धीरे यूपी के कानून में बदलाव आ रहा है। अपराधियों को पकड़ा जा रहा है। इसका पूरा श्रेय योगी को देना चाहिए।

आपको बता दें कि गणेशनगर निवासी दीपक नामक युवक कल अपने घर में तेज आवाज में संगीत बजा रहा था। दूसरे पक्ष के अविनाश ने अपनी मां के बीमार होने का हवाला देते दीपक से आपत्ति दर्ज करायी। इसे लेकर दोनों के बीच कहासुनी हुई। उन्होंने बताया कि झगड़े के बाद दीपक ने संगीत बंद कर दिया। आरोप है कि देर शाम अविनाश हिन्दू युवा वाहिनी के अपने दो साथियों के साथ दीपक के घर में घुसा और उसकी गैर मौजूदगी में महिलाओं से बदसलूकी की। महिलाओं ने दीपक को सूचना दी तो वह भाई गौरव के साथ घर पहुंचा मगर तब तक आरोपी जा चुके थे। सजवाण ने बताया कि दीपक और गौरव ने बाद में अविनाश को पकड़ लिया और पिटाई करने के बाद पुलिस को सौंप दिया।